ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News राजस्थानवसुंधरा राजे-बाबा बालक नाथ नहीं, राजस्थान में इस नेता के लिए खून से लिखा गया लेटर

वसुंधरा राजे-बाबा बालक नाथ नहीं, राजस्थान में इस नेता के लिए खून से लिखा गया लेटर

राजस्थान में भाजपा की नई सरकार का चेहरा कौन होगा? इस सवाल का जवाब अब भी सामने नहीं आया है। वसुंधरा राजे, बाबा बालकनाथ, गजेंद्र सिंह शेखावत समेत करीब आधा दर्जन नेताओं के नामों पर चर्चा चल रही है।

वसुंधरा राजे-बाबा बालक नाथ नहीं, राजस्थान में इस नेता के लिए खून से लिखा गया लेटर
Sudhir Jhaलाइव हिन्दुस्तान,जयपुरWed, 06 Dec 2023 01:44 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की नई सरकार का चेहरा कौन होगा? इस सवाल का जवाब अब भी सामने नहीं आया है। वसुंधरा राजे, बाबा बालकनाथ, गजेंद्र सिंह शेखावत समेत करीब आधा दर्जन नेताओं के नामों पर अटकलें चल रही हैं। कोई जयपुर में अपनी ताकत दिखाने में जुटा है तो कोई दिल्ली दफ्तर में अपनी दावेदारी मजबूत करने में जुटा है। इस बीच सोशल मीडिया पर दो नामों की खूब चर्चा हो रही है। बाबा बालकनाथ और किरोड़ी लाल मीणा राजस्थान में नतीजा आने के बाद से लगातार ट्रेंड में बने हुए हैं। दोनों के समर्थक उन्हें मुख्यमंत्री बनाने की मांग कर रहे हैं। 

पेपरलीक जैसे मुद्दे पर गहलोत सरकार के खिलाफ आंदोलन करते रहे किरोड़ी लाल मीणा को भी सोशल मीडिया पर खूब समर्थन मिल रहा है। उनके समर्थक ट्विटर और फेसबुक के जरिए भाजपा नेतृत्व से मांग कर रहे हैं कि इस बार किरोड़ी लाल मीणा को मौका दिया जाए। इस बीच उनके एक समर्थक ने तो खून से लेटर लिख डाला है। करौली जिले के भाजपा कार्यकर्ता प्रताप सिंह कोडयाई ने अपने खून से लेटर लिखकर पीएम मोदी से अपील की कि किरोड़ी लाल मीणा को मुख्यमंत्री बनाया जाए।

लेटर में क्या लिखा है
भाजपा कार्यकर्ता ने मंगलवार को पीएम मोदी के नाम यह खत लिखा और इसमें दलील दी गई है कि किरोड़ी लाल मीणा ने राजस्थान में कांग्रेस सरकार के खिलाफ आवाज उठाई। प्रताप ने लिखा, 'किरोड़ी लाल मीणा ने 5 वर्षों से राजस्थान कांग्रेस सरकार के खिलाफ पेपर लीक, वीरांगनाओं को न्याय, भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाई। 600 से ज्यादा आंदोलन किए। हर वर्ग को न्याय दिलाया। राजस्थान में कांग्रेस सरकार के खिलाफ विपक्ष की भूमिका निभाई। सड़कों पर खुले आसमान के नीचे सोए और न्याय दिलाया। ऐसे नेता को राजस्थान का मुख्यमंत्री बनाया जाए।'

किरोड़ी लाल मीणा ने खुद को बताया रेस से अलग
एक तरफ जहां किरोड़ी लाल मीणा के लिए उनके समर्थक जोर लगा रहे हैं तो दूसरी तरफ 72 वर्षीय नेता ने खुद को इस रेस से अलग कर लिया है। उन्होंने एक दिन पहले ही एएनआई से बातचीत के दौरान अपनी उम्र का हवाला देते हुए कहा कि अब वह रिटायरमेंट के करीब हैं और इस लाइन से बाहर हैं। उन्होंने यह भी कहा कि पीएम मोदी अक्सर चौंकाने वाला फैसला करते हैं।