Friday, January 21, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ राजस्थानट्रेनों को मिलेगी अब 'कवच' से सुरक्षा, जानिये क्या है ये सिस्टम

ट्रेनों को मिलेगी अब 'कवच' से सुरक्षा, जानिये क्या है ये सिस्टम

जयपुर, लाइव हिंदुस्तानManish Sharma
Sat, 09 Oct 2021 04:32 AM
ट्रेनों को मिलेगी अब 'कवच' से सुरक्षा, जानिये क्या है ये सिस्टम

इस खबर को सुनें

रेलवे में यात्रियों की सुरक्षा को सर्वोपरि रखते हुए 'कवच' सिस्टम विकसित किया गया है। भारतीय रेल द्वारा पूर्ण रूप से स्वदेशी प्रणाली TCAS (ट्रेन कॉलिजन अवाईडेंस सिस्टम) ट्रेनों को आपस में होने वाली टक्कर से बचाएगी। 

उत्तर पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी कैप्टन शशि किरण ने बताया कि भारतीय रेलवे पर अनुमत गति से अधिक गति से ट्रेन ना चलाने और आमने-सामने की टक्कर से होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने हेतु TCAS सिस्टम विकसित किया गया है जिसे 'कवच' नाम दिया गया है। यह प्रणाली सैटेलाइट द्वारा रेडियो कम्युनिकेशन के माध्यम से लोकोमोटिव और स्टेशनों पर आपस में संबंध स्थापित करती है। 

इस तरह काम करता है ये सिस्टम 

इस सिस्टम के द्वारा लोको पायलेट को जहां एक और आगे आने वाले सिग्नलों की स्थिति के बारे में पता चलता है, वहीं दूसरी ओर उसे लाइन पर रुकावट/रोक का पता भी चल जाता है। साथ ही, इस प्रणाली से सिग्नल की लोकेशन और आने वाले सिग्नल की दूरी का भी पता चल जाता है, जिससे लोको पायलेट अधिक प्रभावी ढंग से गाड़ी का परिचालन कर पाता है। किसी लाइन पर अन्य गाड़ी के आने या खड़ी रहने का पता लगते ही यह प्रणाली सक्रिय होकर लोको पायलट को सचेत करती है और निश्चित अवधि पर स्वतः ही गाड़ी में ब्रेक लगा देती है, जिससे किसी भी अनहोनी घटना को रोका जा सके। 

उत्तर पश्चिम रेलवे पर 1586 किलोमीटर रेल लाइनों पर लगेगा ये सिस्टम

उन्होंने बताया कि उत्तर पश्चिम रेलवे पर 436.22 करोड़ की लागत से 1586 किलोमीटर रेल लाइनों पर यह प्रणाली लगाने के लिए सैद्धांतिक मंजूरी प्राप्त हो गई है, जिसे शीघ्र ही पूर्ण कर लिया जाएगा। उत्तर पश्चिम रेलवे पर यह 'कवच' सिस्टम रेवाड़ी-पालनपुर वाया जयपुर, जयपुर-सवाई माधोपुर, उदयपुर-चित्तौड़गढ़, फुलेरा-जोधपुर-मारवाड़ और लूनी-भीलड़ी के 1586 किलोमीटर रेल खंड पर स्वीकृत की गई है।

epaper
सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें