ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानजोधपुर की घी से जलेगी राम लला की अखंड जोत, 108 कलश लेकर रथ रवाना; महायज्ञ में भी होगा इस्तेमाल

जोधपुर की घी से जलेगी राम लला की अखंड जोत, 108 कलश लेकर रथ रवाना; महायज्ञ में भी होगा इस्तेमाल

अयोध्या में जब अगले साल राम लाल मंदिर में राम लला की प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी तब उसमें जोधपुर की घी का इस्तेमाल होगा। इसके लिए गौशाला से घी के 108 कलश को रवाना कर दिया गया है।

जोधपुर की घी से जलेगी राम लला की अखंड जोत, 108 कलश लेकर रथ रवाना; महायज्ञ में भी होगा इस्तेमाल
Sneha Baluniएएनआई,जोधपुरTue, 28 Nov 2023 01:55 PM
ऐप पर पढ़ें

अयोध्या में भगवान राम के भव्य मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा का सभी भक्त बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। सभी किसी न किसी तरह से अपना योगदान देना चाहते हैं। ऐसे में राम लला के मंदिर में अखंड ज्योति और महायज्ञ के लिए जोधपुर से करीब 600 किलोग्राम घी (देसी घी) भेजा गया है। जोधपुर की एक गौशाला से भेजे गए देसी गाय के घी का उपयोग विशेष रूप से राम लला मंदिर में भगवान श्री राम के मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के दौरान होने वाले महायज्ञ और आरती के लिए किया जाएगा।

जनवरी 2024 में पीएम नरेंद्र मोदी अयोध्या में भगवान श्री राम के नवनिर्मित मंदिर में रामलाल की प्राण प्रतिष्ठा करेंगे। इस समारोह की विशेष पूजा के लिए 6 क्विंटल घी भेजा गया है। हालांकि, राजस्थान के जोधपुर की महर्षि संदीपन बनार गौशाला से 27 नवंबर को घी के कलश धार्मिक नगरी अयोध्या के लिए भेजे गए थे। देशी घी के 108 कलशों को पांच बैलों के साथ रथों में रखकर रवाना किया गया। इस दौरान बच्चों को 'जय श्री राम' के नारे लगाते हुए देखा गया क्योंकि रथ उत्तर प्रदेश के पवित्र शहर की ओर बढ़ रहा था।

एएनआई से बात करते हुए, एक पुजारी ने कहा, 'राजस्थान के जोधपुर में बनार गौशाला से भगवान राम लला के शुभ महायज्ञ के लिए 6 क्विंटल घी भेजा जा रहा है। हम 27 नवंबर को अयोध्या के लिए रवाना हुए और भगवान श्री राम के महायज्ञ एवं आरती के शुभारम्भ से पहले पवित्र शहर अयोध्या पहुंचने की कोशिश करेंगे।' मंदिर में भगवान राम की मूर्ति की प्रतिष्ठा 22 जनवरी, 2024 को होगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी कई संतों के साथ प्रतिष्ठा समारोह में भाग लेंगे।

अदालत के फैसले के बाद एक भव्य मंदिर के निर्माण का मार्ग प्रशस्त करने के लिए राम जन्मभूमि के पीठासीन देवता राम लला को लगभग 28 साल बाद इस साल मार्च में अस्थायी मंदिर के गर्भगृह से स्थानांतरित कर दिया गया था। इस समारोह में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भाग लिया था। राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन इसी साल अगस्त में प्रधानमंत्री द्वारा अयोध्या में किया गया था। भक्तों को प्राण प्रतिष्ठा समारोह के दिन का बेसब्री से इंतजार है जब भगवान श्री राम कुटिया से निकलकर भव्य राम मंदिर में प्रवेश करेंगे. जनवरी में होने वाले इस ऐतिहासिक महोत्सव में देश-दुनिया की कई हस्तियां हिस्सा लेंगी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें