ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानJEN भर्ती परीक्षा: पेपर लीक माफिया जगदीश विश्नोई गिरफ्तार, SIT के अहम खुलासे

JEN भर्ती परीक्षा: पेपर लीक माफिया जगदीश विश्नोई गिरफ्तार, SIT के अहम खुलासे

राजस्थान में JEN भर्ती  2020 पेपर लीक मामले में मास्टमाइंट जगदीश विश्नोई को SOG ने गुरुवार दोपहर बाद गिरफ्तार कर लिया है। इससे पहले एसओजी ने आज आरोपियों के ठिकाने पर छापे मारे थे।

JEN भर्ती परीक्षा: पेपर लीक माफिया जगदीश विश्नोई गिरफ्तार, SIT के अहम खुलासे
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरThu, 29 Feb 2024 07:42 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान में JEN भर्ती  2020 पेपर लीक मामले में मास्टमाइंट जगदीश विश्नोई को SOG ने गुरुवार दोपहर बाद गिरफ्तार कर लिया है। इससे पहले गिरफ्तार 2 मुख्य आरोपियों के जयपुर, दौसा और भरतपुर में 14 से ज्यादा ठिकानों पर गुरुवार सुबह SOG की टीम ने दबिश दी। इसमें पेपर लीक के मास्टरमाइंड हर्षवर्धन कुमार मीणा (पटवारी) के दौसा-महवा और जयपुर, भरतपुर में 7 से ज्यादा ठिकाने शामिल हैं। स्कूल टीचर राजेंद्र कुमार यादव के आवास सहित उसके साथी के ठिकानों पर भी छापेमारी हुई। हर्षवर्धन के पास 5.71 करोड़ की और राजेंद्र की 15 करोड़ प्रॉपर्टी मिली। दौसा में एक बाबा के आश्रम में 4 घंटे कार्रवाई चली। 

तीन साल से चल रहा था फरार

वह करीब 3 साल से फरार चल रहा था। पूर्व में पेपर लीक और एक दर्जन से अधिक मामलों में पहले गिरफ्तार किया जा चुका है।  एसओजी के एडीजी वीके सिंह ने बताया कि जगदीश विश्नोई पेपर लीक करने वाली गैंग का सरगना है। वह जिला सांचौर दांता पुलिस थाना का निवासी है। इस गैंग में हर्षवर्धन पटवारी, राजेंद्र कुमार यादव अध्यापक के साथ-साथ कई अन्य शातिर अपराधी भी शामिल है।

पेपर के बदले लिए थे 10 लाख रुपए

जगदीश विश्नोई अपनी गैंग के साथ मिलकर पेपर लीक करने का कार्य ऑर्गेनाईज्ड वे में लंबे समय से कर रहा है। जगदीश विश्नोई ने शहीद मेजर दिग्विजयसिंह सुमाल राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय खातीपुरा, जयपुर में अपने एक सहयोगी को भेजकर गैंग के सदस्य इस स्कूल के अध्यापक राजेन्द्र कुमार यादव की मदद से पेपर का फोटो करवाकर पेपर को स्कूल से बाहर निकलवाया था। जगदीश विश्नोई ने इसके बदले में राजेन्द्र कुमार यादव को 10 लाख रुपए दिए थे।

जगदीश विश्नोई ने उक्त प्रश्न पत्र अपनी गैंग के सदस्य हर्षवर्धन मीणा के पास व्हाटसअप के जरिए भिजवाया था। जगदीश विश्नोई व हर्षवर्धन ने करोड़ों रुपए लेकर अभ्यर्थियों को पेपर पढ़वाया। जगदीश विश्नोई करीब डेढ़ दशक से ज्यादा समय से पेपर लीक करने के अपराध को अंजाम दे रहा है। एसआईटी टीम ने बुधवार को जगदीश विश्नोई को जवाहर कला केन्द्र जयपुर से दस्तयाब किया था जिसे बाद पूछताछ गुरुवार दोपहर को गिरफ्तार कर लिया।

एएसपी नरेन्द्र मीणा ने बताया कि सप्ताहभर पहले पेपर लीक के मास्टरमाइंड समेत कई आरोपियों को गिरफ्तार किया था। जिनसे पूछताछ चल रही है, जिसके आधार पर उनके ठिकानों पर सर्च किया जा रहा है। कोर्ट से जारी सर्च वारंट लेकर पहुंचे हैं, टीम द्वारा गहनता से तलाशी ली जा रही है। पेपर लीक से जुडा कोई संदिग्ध दस्तावेज या सामग्री मिलती है तो कार्रवाई की जाएगी।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें