ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ राजस्थानरास्ते में ही खत्म हो गया एंबुलेंस का डीजल, केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने CM गहलोत को लिया निशाने पर

रास्ते में ही खत्म हो गया एंबुलेंस का डीजल, केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने CM गहलोत को लिया निशाने पर

राजस्थान के बांसवाड़ा जिले में रास्ते में ही एंबुलेंस का डीजल खत्म होने के मामले में केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने गहलोत को निशाने पर ले लिया है। कहा- राजस्थान में कोई भी अनहोनी असंभव नहीं।

रास्ते में ही खत्म हो गया एंबुलेंस का डीजल, केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने CM गहलोत को लिया निशाने पर
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरSat, 26 Nov 2022 07:25 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान के बांसवाड़ा जिले में रास्ते में ही एंबुलेंस का डीजल खत्म होने के मामले में केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने सीएम अशोक गहलोत को निशाने पर ले लिया है। केंद्रीय मंत्री शेखावात ने ट्वीट कर लिखा- विश्वास नहीं होता कि एक मरीज की मौत का कारण एंबुलेंस में डीजल खत्म हो जाना बन गया। लेकिन राजस्थान में कोई भी अनहोनी असंभव नहीं लगती है। दरअसल हाल ही में उदयपुर संभाग के बांसवाड़ा जिले की एम्बुलेंस की बड़ी लापरवाही सामने आई थी। जिसमें मरीज को ले जा रहे एंबुलेंस का डीजल ही खत्म हो गया। यहीं नहीं परिजनों को धक्का तक लगाना पड़ा. 35 किलोमीटर हॉस्पिटल जाने में 4 घंटे लग गए, इतने में मरीज ने दम तोड़ दिया था। इस घटना के बाद सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें मरीज के परिजन एंबुलेंस को धक्का देते हुए दिख रहे हैं। 

समय पर इलाज नहीं मिलने से मरीज की मौत 

बांसवाड़ा के भानुपरा निवासी मुकेश मईडा ने बताया कि प्रतापगढ़ जिला निवासी ससुर तेजपाल मेरी पत्नी (अपनी बेटी) से मिलने के लिए घर आए थे। तीन दिन से यही थे। खेत में जाते समय अचानक गिर गए। पत्नी ने फोन लगाया तो तुरंत घर पहुंचा और एम्बुलेंस को फोन लगाया। ससुर की तबीयत 11 बजे खराब हुई थी। फोन लगाने के एक घंटे बाद 12 बजे एम्बुलेंस घर आई। उसी एम्बुलेंस से पास ही पीएचसी लेकर गए जहां ईसीजी की मशीन नहीं थी। फिर 35 किलोमीटर जिला अस्पताल ले जाने के लिए निकले। रास्ते में एम्बुलेंस ने अचानक झटके के साथ बंद हो गई। तब तक ससुर की सांस चल रही थी। लेकिन समय पर चिकित्सा नहीं मिलने के कारण मौत हो गई है। 

मंत्री बोले- मैनेजमेंट की कमी है

हालांकि गहलतो के मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने बचाव करते हुए कहा कि यह मैनेजमेंट की कमी है। सिस्टम की कमी नहीं है। गहलोत सरकार ने अस्पतालों में फ्री इलाज की व्यवस्था कर रखी है। दूसरी तरफ बांसवाड़ा जिले के स्वास्थ्य अधिकारियों ने पूरे मामले की जांच करवाने की बात कही है। बता दें राजस्थान में सभी तरह के इलाज की मुफ्त व्यवस्था है।