DA Image
29 अक्तूबर, 2020|5:45|IST

अगली स्टोरी

किसी रिश्तेदार को मोबाइल ठीक कराने देते हैं तो पहले पढ़ ले यह खबर, बच सकती है जान

जयपुर में कुछ रुपयों के लिए बहू के मुंहबोले भाई ने 55 साल के एक व्यक्ति की हत्या कर दी। इसके बाद शव को कट्टे में डाल कर साथियों के साथ सीतापुरा में सड़क किनारे फेंक गया। सांगानेर सदर थाना पुलिस ने इस मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आरोपी सवाई माधोपुर के चाणढोली गांव निवासी तेजसिंह गुर्जर (21) मृतक की बहू का मुंहबोला भाई है। वहीं असलम खान (19) और अभिषेक उर्फ गोलू (21) भी उसी के गांव के रहने वाले हैं। आरोपियों ने घर में ही घनश्याम वैष्णव की हत्या की फिर कट्टे में शव को बंद करके स्कूटी पर ले गए।

तीनों आरोपी 6 दिन पहले मृतक के घर आए थे। 22 अक्टूबर को घनश्याम के बेटे बहू गांव चले गए थे। घनश्याम ने अपने मोबाइल का स्क्रीन लॉक तेजसिंह से चेंज कराया था। इस दौरान आरोपी तेज सिंह ने घनश्याम के मोबाइल में एक पेमेंट ऐप में देखा कि खाते में 1.91 लाख रुपए हैं। उसे और उसके साथियों को लालच आ गया। आरोपी गोलू ने तेजसिंह से कहा कि मोबाइल मेरे पास ले आओ मैं रकम निकाल लूंगा। तीनों आरोपियों ने घनश्याम से मोबाइल छीनने की योजना बनाई थी। 

इसके तहत घनश्याम जब ड्यूटी पर साइकिल से जाता था तो तेज सिंह और असलम उसका पीछा करते थे। फोन पर बात करते समय मोबाइल छीनने की फिराक में थे, लेकिन वह मोबाइल नहीं छीन पाए और फिर हत्या करके ही मोबाइल लेने की साजिश रची। एडिशनल डीसीपी अवनीश कुमार शर्मा ने बताया कि घनश्याम के बेटे बहू तेजसिंह को खाना बनाने की जिम्मेदारी देकर गए थे।

25 अक्टूबर को तेजसिंह और असलम घनश्याम के घर आए। सबने खाना खाया और सो गए। दोनों आरोपियों ने उठकर घनश्याम का गला दबाकर हत्या कर दी। मृतक का मोबाइल गोलू को दे दिया और शव को कट्टे में डालकर एक दोस्त की स्कूटी पर लेकर सीतापुरा में सड़क किनारे डाल गए। आरोपी तेजसिंह हत्या के अगले दिन मृतक के बेटे के साथ घनश्याम को ढूंढने का नाटक करता रहा। पुलिस को झूठी कहानी सुनाई कि घनश्याम फोन पर कहासुनी करते हुए घर से निकला था।

थानाधिकारी हरिपाल सिंह ने बताया कि आरोपियों ने कट्टे में शव सड़क पर डाल दिया था। कुत्तों ने कट्टा फाड़ दिया तब लाश मिली। इसके बाद पुलिस ने मृतक के मोबाइल की डिटेल निकाली। आसपास के लोगों से पूछताछ की। पड़ोसियों ने कहा कि न घनश्याम की तेज आवाज आई, न वह घर से निकला। तब पुलिस को तेजसिंह पर ही शक गया। उससे कड़ाई से पूछताछ करने पर पर मामले का खुलासा हुआ।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:if give mobile to relative for repair so first read this news Life can be saved