ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ राजस्थानगहलोत कैबिनेट की बैठक में मंत्रियों के बीच हाॅट टाॅक: RSS पृष्ठभूमि के कर्मचारियों को हटाने की मांग पर हुई तीखी बहस; जानें पूरा मामला

गहलोत कैबिनेट की बैठक में मंत्रियों के बीच हाॅट टाॅक: RSS पृष्ठभूमि के कर्मचारियों को हटाने की मांग पर हुई तीखी बहस; जानें पूरा मामला

राजस्थान में गहलोत के मंत्रियों की नाराजगी एक बार फिर खुलकर सामने आ गई। कैबिनेट की बैठक में यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल और पीडब्ल्यूडी मंत्री भजन लाल जाटव ने शिक्षा मंत्री कल्ला को निशाने पर ले लिया।

गहलोत कैबिनेट की बैठक में मंत्रियों के बीच हाॅट टाॅक: RSS पृष्ठभूमि के कर्मचारियों को हटाने की मांग पर हुई तीखी बहस; जानें पूरा मामला
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरSun, 12 Jun 2022 11:18 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान में गहलोत के मंत्रियों की एक बार फिर नाराजगी खुलकर सामने आ गई। कैबिनेट की बैठक में यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल और पीडब्ल्यूडी मंत्री भजन लाल जाटव ने शिक्षा मंत्री बीडी कल्ला को निशाने पर लिया। तीनों मंत्रियों के बीच में इस कदर कहासुनी हुई कि मामले को शांत कराने के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को दखल देनी पड़ी। मंत्री शांति धारीवाल ने शिक्षा विभाग  में आरएसएस से जुड़े कर्मचारियों-अधिकारियों को हटाने की मांग शिक्षामंत्री बीडी कल्ला से कर दी। इसी बात को लेकर दोनों मंत्री उलझ गए। मंत्री भजन लाल जाटव ने इंग्लिश मीडियम स्कूल खोले जाने को लेकर नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि मेरे क्षेत्र में महात्मा गांधी इंग्लिश मीडियम स्कूल खोले जा रहे हैं और मुझे उसकी जानकारी नहीं है। मैं क्षेत्र का विधायक हूं, मुझे यह पता होना चाहिए कि कहां पर स्कूल खोले जा रहे हैं, कहां पर ज्यादा आवश्यकता है इसको लेकर मुझ से मुझे यह पता होना चाहिए कि कहां पर स्कूल खोले जा रहे हैं, कहां पर ज्यादा आवश्यकता है। इसको लेकर मुझ से ज्यादा बेहतर कौन बता सकता है। 

RSS पृष्ठभूमि के अधिकारी- कर्मचारी को हटाने की मांग

भजन लाल जाटव और बीडी कल्ला के बीच कहासुनी चल ही रही थी कि इस बीच यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल भी बीच में बोल पड़े। धारीवाल ने नाराजगी जताते हुए कहा शिक्षा विभाग से RSS पृष्ठभूमि के अधिकारी और कर्मचारी लगे हुए हैं। उन्हें हटाया जाए। मामले की गंभीरता को देखते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दखल किया और मंत्रियों को शांत कराया। गहलोत ने कहा कि सरकार की योजनाओं में सरकार की योजनाओं में अड़ंगा लगाने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों की सूची तैयार करके सौंपी जाए . ऐसे लापरवाह कर्मचारी अधिकारी खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। 

पहले भी उलझ चुके हैं गहलोत के मंत्री 

उल्लेखनीय है कि यह पहला मौका नहीं है। इससे पहले भी गहलोत कैबिनेट की मीटिंग के दौरान मंत्रियों के एक-दूसरे से उलझने की खबरें आई है। कोरोना काल में मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास औ स्वास्थ्य मंत्री परसादी लाल मीना के बीच तकरार हुई थी। एक बार यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल और तत्कालीन शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा के बीच भी तकरार हुई थी। इन दोनों ही मामलों में सीएम अशोक गहलोत को हस्तक्षेप करना पड़ा। 

epaper