ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानहिजाब पहना तो स्कूल में नो एंट्री, मीना बाजार चलाने वाला अकबर महान कैसे ? बोले शिक्षामंत्री दिलावर

हिजाब पहना तो स्कूल में नो एंट्री, मीना बाजार चलाने वाला अकबर महान कैसे ? बोले शिक्षामंत्री दिलावर

राजस्थान में हिजाब विवाद बढ़ता जा रहा है। शिक्षामंत्री मदन दिलावर ने कहा कि हिजाब पहनने पर स्कूल में प्रवेश नहीं मिलेगा। शिक्षामंत्री ने कहा- अकबर बलात्कारी था। महान कैसे हो सकता है।

हिजाब पहना तो स्कूल में नो एंट्री, मीना बाजार चलाने वाला अकबर महान कैसे ? बोले शिक्षामंत्री दिलावर
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरThu, 01 Feb 2024 12:18 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान में हिजाब विवाद बढ़ता जा रहा है। शिक्षामंत्री मदन दिलावर ने कहा कि हिजाब पहनने पर स्कूल में प्रवेश नहीं मिलेगा। शिक्षामंत्री ने कहा- ज्ञानवापी तो झांकी है। मथुरा-काशी बाकी है। अकबर महान नहीं, बलात्कारी था। अकबर ने मीना बाजार में मां और बहनों को उठाने का काम किया। वह महान कैसे हो सकता है। शिक्षामंत्री ने कहा कि जानबूझकर अगली पीढ़ी को गलत दिशा देने की कोशिश की जा रही है। मैं सिलेबस को चेंज करने का पक्षधर नहीं, लेकिन महापुरुषों को नीचा दिखाने की कोशिश करने वाले अंशों को जरूर हटाया जाएगा। मदन दिलावर ने कहा कि देश की जनता लगातार बात करती आई है कि ये (अयोध्या) तो पहली झांकी है, मथुरा-काशी बाकी है। जब तक श्री कृष्ण भगवान के जन्म स्थल पर उनका भव्य मंदिर नहीं बन जाता, तब तक वो एक समय ही भोजन करेंगे और माला नहीं पहनेंगे।

महापुरुषों को नीचा दिखाने वाले अंश हटेंगे 

 मदन दिलावर ने कहा कि वो किसी भी तरह के सिलेबस को चेंज करने के पक्ष में नहीं है, लेकिन जानबूझकर अगली पीढ़ी को गलत दिशा देने की कोशिश की जा रही है। पूर्वजों के बारे में भ्रामक जानकारियां दी जा रही है। महापुरुषों को नीचा दिखाने की कोशिश की जा रही है। ऐसे अंशों को सिलेबस से हटाया जाएगा। अकबर महान है तो वो क्यों महान है ? वो तो मीना बाजार लगाकर मां-बहनों को उठा ले जाता था, उनके साथ अनैतिक हरकते करता था। वो महान कैसे हो सकता है ? महाराणा प्रताप तो हमेशा देश और मेवाड़ के लिए लड़े हैं, तो उनसे लड़ने वाला देश का हितकारी कैसे हो सकता है ? उन्होंने कहा कि कुछ साल पहले सुना था कुछ पुस्तकों में पढ़ाया जा रहा था कि चंद्रशेखर आजाद और भगत सिंह आतंकवादी हैं। अगर हमारे देशभक्त क्रांतिकारियों को आतंकवादी पढ़ाएंगे तो बच्चों के मन पर क्या प्रभाव पड़ेगा ? उनकी दिशा क्या हो जाएगी ? वीर सावरकर तो देशभक्त है ही नहीं, ये कैसे मान लेंगे ? ऐसे अंश होंगे तो उनकी समीक्षा कर रहे हैं, कोशिश करेंगे की उन अंशों को हटाया जाए।

साइकिल देने की प्रक्रिया जारी है 

स्कूलों के होनहार छात्रों को साइकिल, लैपटॉप, टैबलेट देने की योजना पर उन्होंने कहा कि साइकिल देने की प्रक्रिया जारी है। बाकी लैपटॉप- टैबलेट के विषय में मुख्यमंत्री से बात करेंगे, उसके बाद ही फैसला लिया जाएगा। जहां तक साइकिलों के रंग को कांग्रेस शासन काल में भगवा से काला करने का सवाल है तो ये सारी कांग्रेस ही काली है।इसलिए वो काला-काला करेगी ही, लेकिन अभी पूरा देश राममय हो रहा है। सभी महापुरुषों के पास जितने भी झंडे थे, सब भगवा ही थे। उगते सूर्य से लेकर, प्रज्ज्वलित अग्नि तक सबका रंग भगवा ही है। जब सारी सृष्टि ही भगवा से जगमगाती है तो दूसरी और चीज भगवमयी क्यों ना हो. साइकिल भी भगवा हो जाएगी, तो क्या दिक्कत है।

स्कूलों में हो एक यूनिफॉर्म

स्कूलों में हिजाब को लेकर शिक्षा मंत्री ने कहा कि उन्होंने कोई नया आदेश जारी नहीं किया।पहले से आदेश है कि विद्यालयों में विद्यार्थियों को अपनी ड्रेस (पोशाक, गणवेश) पहन कर जाना चाहिए।यही आग्रह है कि विद्यालय में विद्यार्थियों को अपनी गणवेश में ही आना चाहिए। ये आदेश पहले से दिए हुए है। इसमें उनका कोई नया आदेश नहीं है। ये कांग्रेस के राज में भी था और बीजेपी के राज में भी है। पहले भी था और अभी भी है।  मदन दिलावर ने कहा कि पॉलिसी बनाने में टाइम लगता है, इतना जल्दी पॉलिसी बनाना संभव नहीं है, लेकिन कोशिश करेंगे की आगामी समय में पॉलिसी तैयार कर मंत्रिमंडल में जाए और मंत्रिमंडल इस पर जो भी फैसला ले, वैसा काम किया जाए।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें