ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News राजस्थानराजस्थान में भीषण गर्मी, इस जिले में 1 से 8 तक के छात्रों के लिए अवकाश घोषित

राजस्थान में भीषण गर्मी, इस जिले में 1 से 8 तक के छात्रों के लिए अवकाश घोषित

राजस्थान में आसमान से आग बरस रही है। भीषण गर्मी के चलते शिक्षा विभाग ने सभी जिलों कलेक्टरों को स्कूलों में छुट्टी के लिए अधिकृत किया है। जबकि  धौलपुर में 1 से 8 तक के स्कूलों में अवकाश घोषित किया है।

राजस्थान में भीषण गर्मी, इस जिले में 1 से 8 तक के छात्रों के लिए अवकाश घोषित
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरWed, 08 May 2024 08:01 AM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान में आसमान से आग बरस रही है। भीषण गर्मी के चलते शिक्षा विभाग ने सभी जिलों कलेक्टरों को स्कूलों में छुट्टी के लिए अधिकृत किया है। जबकि 
धौलपुर में 1 से 8 तक के स्कूलों के छात्रों के लिए अवकाश घोषित कर दिया है। स्कूली बच्चों को गर्मी के मौसम में परेशानी से बचने के लिए शिक्षा विभाग ने प्रदेश के समस्त जिला कलेक्टर को पत्र लिखकर अपने जिले की स्थिति के अनुरूप अवकाश घोषित करने के लिए अधिकृत कर दिया है। शिक्षा निदेशक आशीष मोदी ने इसके लिए पत्र जारी  किया है।  हालांकि, यह अवकाश पूरी तरह से स्कूली बच्चों के लिए होगा और प्राथमिक और उसे प्राथमिक कक्षाओं में पढ़ने वाले बच्चों पर ही लागू होगा। शिक्षा निदेशक की ओर से जारी पत्र में साफ तौर पर कहा गया है कि अवकाश के चलते स्कूल का प्रशासनिक कार्य बाधित नहीं हो, साथ ही अवकाश के लिए मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी के साथ समन्वय कर अवकाश घोषित किया जा सकता है।

उल्लेखनीय है कि पिछले कई दिनों से गर्मी के चलते पारा लगातार बढ़ता जा रहा है और अब मौसम विभाग ने प्रदेश के कई जिलों में हीटवेव और लू की भविष्यवाणी की है। जिसके बाद शिक्षा विभाग ने आदेश जारी किए हैं।  मौसम विभाग तथा राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन एवं राजस्थान आपदा प्रबंधन, सहायता एवं नागरिक सुरक्षा विभाग राजस्थान द्वारा जारी एडवाइजरी के आधार पर जिले में 8 मई से 9 मई तक लू-ताप की सम्भावना को देखते हुए जिले में संचालित कक्षा 1 से 8 तक के समस्त सरकारी एवं गैर सरकारी विद्यालयों में अध्ययनरत विद्यार्थियों को गर्मी से बचाव एवं विद्यर्थियों के स्वास्थ्य के मद्देनजर जिला कलेक्टर श्रीनिधि बीटी ने अवकाश घोषित किया है।

जिला कलेक्टर ने बताया कि यह अवकाश केवल छात्रों के लिए लागू होगा। शेष स्टाफ यथावत कार्य करेगें। जिले के समस्त संस्था प्रधानों को निर्देशित किया गया है कि वे इस आदेश की पालना सुनिश्चित करें। यदि कोई भी संस्था प्रधान इस अवधि में विद्यालय संचालन करता हुआ पाया जाता है तो उसके खिलाफ आपदा प्रबन्धन अधिनियम 2005 के प्रावधानों के तहत कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।