ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News राजस्थानझुंझुनू में हरियाणा के वांटेड अपराधी ने खुद को मारी गोली, पुलिस से घिरता देख कनपटी पर फायर किया

झुंझुनू में हरियाणा के वांटेड अपराधी ने खुद को मारी गोली, पुलिस से घिरता देख कनपटी पर फायर किया

राजस्थान के  सिंघाना (झुंझुनू) के खानपुर गांव के पास हरियाणा पुलिस के वांटेड अपराधी ने खुदकुशी कर ली। खुद को हरियाणा पुलिस से घिरता देख अपराधी ने खुदकुशी कर ली। पुलिस ने 5 हजार का इनाम रखा था।

झुंझुनू में हरियाणा के वांटेड अपराधी ने खुद को मारी गोली, पुलिस से घिरता देख कनपटी पर फायर किया
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरTue, 14 May 2024 04:16 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान के  सिंघाना (झुंझुनू) के खानपुर गांव के पास हरियाणा पुलिस के वांटेड अपराधी ने खुदकुशी कर ली। खुद को हरियाणा पुलिस से घिरता देख अपराधी ने खुदकुशी कर ली। मौके पर पुलिस के सामने 2 हवाई फायर भी किए। बदमाश संजय उर्फ भेड़िया निवासी कलिहाना चरखीदादार को पुलिस सिंघाना के सरकारी अस्पताल में लेकर आई, जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया है। सिंघाना थाने के एएसआई विद्याधर शर्मा ने बताया कि हरियाणा की एसटीएफ टीम को सूचना मिली थी कि अपराधी संजय, सिंघाना थाना क्षेत्र के मेहराणा के पास बूटीनाथ आश्रम में छिपा हुआ है। टीम ने वहां दबिश दी और आश्रम की घेराबंदी कर ली। पुलिस टीम ने उसे सरेंडर के लिए कहा। ऐसे में पुलिस से घिरता देखकर बदमाश ने दो फायरिंग किए. इसके बाद उसने खुदकुशी कर ली।

सिंघाना अस्पताल के चिकित्सक डॉ. धर्मेंद्र सैनी ने बताया कि हरियाणा पुलिस एक अपराधी को लेकर आई थी, जिसकी हालत गंभीर थी।अस्पताल में उसकी मौत हो गई। आगे की कानूनी कार्रवाई की जाएगी। जानकारी के अनुसार बदमाश संजय उर्फ भेड़िया निवासी कलिहाना चरखीदादार हरियाणा में 5 हजार रुपए का इनामी बदमाश है। जिसके खिलाफ लूट, अपहरण सहित 20 से ज्यादा मामले दर्ज हैं। सिंघाना पुलिस भी मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल कर रही है।

पुलिस के मुताबिक 10 अक्टूबर 2020 की सुबह संजय उर्फ भेड़िया ने अपने दोस्त रोहित कलियाणा के साथ मिलकर क्रेशर ठेकेदार सोमबीर घसौला की अनाज मंडी स्थित दुकान और मकान पर फायरिंग की थी। रोहित बाइक चला रहा था और भेड़िया ने फायरिंग की थी। इस फायरिंग में मास्टरमाइंड लोहारू निवासी प्रक्षित और भिवानी निवासी विकास उर्फ पोपट थे। पुलिस तीनों आरोपियों को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। इस मामले में केवल संजय भेड़िया ही फरार चल रहा था। हरियाणा पुलिस पिछले कुछ दिनों से संजय के पीछे लगी हुई थी। जब उसे इसकी भनक लगी तो वह हरियाणा छोड़कर दिल्ली आ गया था। इसके कुछ समय बाद वह राजस्थान आ गया और झुंझुनू जिले में अलग-अलग जगह फरारी काटने के बाद वह आश्रम में छिपा बैठा था।