ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानहनुमान बेनीवाल को मारने का खतरा, एक्शन में भजनलाल सरकार; उठाया ये कदम 

हनुमान बेनीवाल को मारने का खतरा, एक्शन में भजनलाल सरकार; उठाया ये कदम 

राजस्थान में आरएसपी के सुप्रीमो हनुमान बेनीवाल की जान को खतरा होने के इनपुट मिलते ही भजनलाल सरकार एक्टिव मोड पर है। सरकार ने बेनीवाल के आवास पर सुरक्षा बढ़ा दी है। कमांडो तैनात किए गए है।

हनुमान बेनीवाल को मारने का खतरा, एक्शन में भजनलाल सरकार; उठाया ये कदम 
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरFri, 26 Jan 2024 04:10 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान में आरएसपी के सुप्रीमो हनुमान बेनीवाल की जान को खतरा होने के इनपुट मिलते ही भजनलाल सरकार एक्टिव मोड पर है। सरकार ने बेनीवाल के आवास पर सुरक्षा बढ़ा दी है। 8 कमांडो लगाए गए है। इंटेलिजेंस एजेंसियों को जान का खतरा होने का इनपुट मिला है। जिसके बाद पूर्व सांसद और खींवसर विधायक हनुमान बेनीवाल की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। नागौर स्थित उनके आवास पर QRT की टीमों की तैनात किया गया है। इस टीम की अनुमति के बिना कोई भी व्यक्ति हनुमान बेनीवाल ने नहीं मिल सकता है। बताया जा रहा है कि शुक्रवार 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस समारोह के जश्न के बीच इंटेलिजेंस एजेंसियों को यह इनपुट मिला। उल्लेखनीय है कि बेनीवाल को पहले भी धमकियां मिल चुकी है। 

बेनीवाल के घर पर 8 कमांडो तैनात

बेनीवाल के आवास पर QRT की टीम को तैनात कर दिया है। पूरे घर को सुरक्षा घेरे में ले लिया गया है। हनुमान बेनीवाल के आवास पर आठ कमांडो को तैनात किया गया है। सभी कमांडो आधुनिक हथियारों से लैस है, जो हर संदिग्ध गतिविधियों और हर आने-जाने वाले पर कड़ी नजर रख रहे हैं। अब हनुमान बेनीवाल के आवास पर आने वाले लोगों में से उन्हीं को हनुमान बेनीवाल से मिलने की अनुमति होगी, जिसे QRT द्वारा इजाजत दी जाएगी। कड़ी जांच और सुरक्षा मानकों के बाद ही कोई व्यक्ति हनुमान बेनीवाल से मिल सकेगा। आपको बता दें कि हनुमान बेनीवाल खींवसर के विधायक है। राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के सुप्रीमो भी है। विधायक बनने से पूर्व वे नागौर के सांसद भी रह चुके हैं।

पहले भी मिल चुकी है धमकियां

इसके अलावा हनुमान बेनीवाल कई बार सरकार पर कानून व्यवस्था और गैंगवार को लेकर बढ़ रहे अपराधों पर भी निशाना साध चुके हैंय़ पूर्व में भी कई बार हनुमान बेनीवाल की जान को खतरा बताया गया था। उन्हें अनौपचारिक रूप से कई बार धमकियां भी मिल चुकी थी। इसके बाद  बेनीवाल ने भी कई बार सरकार से सुरक्षा व्यवस्था की मांग की थी और अब सुरक्षा एजेंसियों को मिले इनपुट के आधार पर अचानक हनुमान बेनीवाल की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें