ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानसुखदेव सिंह गोगामेड़ी के हत्यारों पर 5-5 लाख का इनाम, जांच के लिए DGP ने बनाई SIT

सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के हत्यारों पर 5-5 लाख का इनाम, जांच के लिए DGP ने बनाई SIT

राजस्थान में सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड की जांच के लिए डीजीपी उमेश मिश्रा ने एसआईटी गठित की है। दोनों अभियुक्तों की पहचान हो गई। FIR दर्ज होते ही दोनों अभियुक्तों पर होगा 5-5 लाख का इनाम रखा है।

सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के हत्यारों पर 5-5 लाख का इनाम, जांच के लिए DGP ने बनाई SIT
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरWed, 06 Dec 2023 02:45 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान में सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड की जांच के लिए डीजीपी उमेश मिश्रा ने एसआईटी गठित की है। दोनों अभियुक्तों की पहचान हो गई है। FIR दर्ज होते ही दोनों अभियुक्तों पर होगा 5-5 लाख रुपए का इनाम घोषित। डीजीपी उमेश मिश्रा ने बताया कि श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेवा के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेडी की हत्या के बाद आरोपियों की तलाश के लिए पुलिस द्वारा सख्त नाकाबंदी कर संभावित ठिकानों पर दबिश दी जा रही है।

उन्होंने आमजन से धैर्य और शांति बनाए रखने की अपील करते हुए पुलिस को विशेष सतर्कता बरतने और सुरक्षा बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। डीजीपी श्री मिश्रा ने बताया कि हत्या के आरोपियों की तलाश के लिए पुलिस द्वारा सख्त नाकाबंदी की गई है।घटना की रोहित गोदारा गैंग ने जिम्मेदारी ली है। इसे ध्यान में रखते हुए पड़ोसी जिलों और बीकानेर संभाग में भी बदमाशों के कांटेक्ट को चिन्हित कर लगातार दबिश दी जा रही है। उन्होंने पड़ोसी राज्य हरियाणा के डीजीपी से स्वयं बात कर सहयोग के लिए कहा है।

आरोपी जल्द होंगे गिरफ्तार

डीजीपी ने विश्वास व्यक्त किया कि शीघ्र ही अपराधियों को गिरफ्तार करने में पुलिस टीम को सफलता मिलेगी। हत्यारे बातचीत करने के बहाने उनके घर में दाखिल हुए और कुछ देर बातचीत करने के बाद गोलियां चलाना शुरु कर दिया। गोगामेड़ी के गार्ड ने भी जवाबी गोली चलाई। घटना के बाद दोनों हमलावरों ने उनके साथ आये नवीन शेखावत को भी गोली मार दी। इस घटना में श्री गोगामेड़ी और नवीन की मौत हो गई जबकि परिचित अजीत गंभीर रूप से घायल हुआ है।डीजीपी श्री मिश्रा ने कहा कि यह एक दुखद और गंभीर घटना है। उन्होंने आमजन से अपना धैर्य व शांति बनाए रखने की अपील की है। उन्होंने बताया कि शीघ्र ही हत्यारों को पकड़ा जाकर उनके विरुद्ध कठोर विधिक कार्रवाई की जाएगी। 


 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें