ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थान'एक शेर को गीदड़ों ने मारा है....', गोगामेड़ी की पत्नी शीला शेखावत की ललकार

'एक शेर को गीदड़ों ने मारा है....', गोगामेड़ी की पत्नी शीला शेखावत की ललकार

राजस्थान में मीडिया के सामने आईं राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की पत्नी शीला शेखावत ने कहा कि पहले सिक्योरिटी देते तो यह नहीं होता। शेर को गीदड़ों ने मारा है।

'एक शेर को गीदड़ों ने मारा है....', गोगामेड़ी की पत्नी शीला शेखावत की ललकार
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरWed, 06 Dec 2023 09:45 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान में सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड मामले में प्रशासन और सर्व समाज के प्रतिनिधिमंडल के बीच मांगों पर सहमति बन गई है। मीडिया के सामने आईं राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की पत्नी शीला शेखावत ने कहा कि पहले सिक्योरिटी देते तो यह नहीं होता। सुरक्षा में लापरवाही बरती गई। शीला ने कहा- एक शेर को गीदड़ों ने मारा है। सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की पत्नी शीला शेखावत ने जयपुर के श्याम नगर थाने में मुकदमा दर्ज कराया है। दर्ज मुकदमे में निवर्तमान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, डीजीपी का भी जिक्र है। शीला ने आरोप लगाया कि सुखदेव ने तत्कालीन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, डीजीपी से सुरक्षा मांगी थी, लेकिन जानबूझकर जिम्मेदारों की तरफ से सुरक्षा नहीं मुहैया करवाई गई।  एफआईआर में पंजाब पुलिस, एटीएस सहित अन्य पात्रों का भी जिक्र है। 

इन मांगों पर बनी सहमति

दोनों हत्यारों (शूटर) को स्थानीय पुलिस द्वारा बिना विलम्ब गिरफ्तार किया जाएगा। आपराधिक साजिश में शामिल गैंगस्टर लॉरेन्स बिश्नोई, रोहित गोदारा और अन्य जो भी शामिल हो, उसके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। मामले की जांच एनआईए द्वारा किए जाने के लिए अनुशंसा की जाएगी।सुखदेव गोगामेडी को लगातार मिल रही धमकियों के बाद भी उनको पुलित सुरक्षा उपलब्ध नही कराने के संबंध में जिम्मेदार अधिकारियों की भूमिका सामने लाने के लिए हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज से न्यायिक जांच कराने और जांच रिपोर्ट के आधार पर दोषी अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

विभागीय जांच करवाई जाएगी

जांच के बाद केस का ट्रायल फास्ट ट्रैक कोर्ट (विशेष न्यायालय एनआईए प्रकरण) से करवाया जाएगा। घटना के पहले और बाद में लापरवाही बरतने के संबंध में विभागीय जांच की जाएगी। इस विभागीय जांच के दौरान थानाधिकारी और बीट में पद स्थापित कार्मिकों को पुलिस लाइन जयपुर में ट्रांसफर किया जाएगा।सुखदेव सिंह के परिजनों को आर्थिक सहायता प्रदान करने हेतु और सरकारी नौकरी दिलवाए जाने हेतु राज्य सरकार को अनुशंसा की जाएगी। घटना में घायल अजीत सिंह के परिजनों को भी आर्थिक सहायता दिलाने हेतु राज्य सरकार को अनुशंसा की जाएगी।

सुखदेव सिंह के परिवार के सदस्यों को जयपुर में पुलिस कमिश्नरेट और हनुमानगढ़ जिले में जिला पुलिस द्वारा हाई सिक्योरिटी प्रदान की जाएगी। सुखदेव सिंह के जयपुर निवासरत परिवार के सदस्यों औरहनुमानगढ़ में निवासरत परिजनों को को हथियार का लाइसेंस आवेदन के 10 दिन में स्वीकृत किया जाएगा।मामले के सभी गवाहों को जयपुर आयुक्तालय या संबंधित जिलेसे सुरक्षा उपलब्ध कराई जाएगी। सुखदेव सिंह की हत्या करने वाली गैंग के निशाने पर राजपूत। समाज के कई प्रतिष्ठित व्यक्ति है। इनके खतरे का 7 दिन में आंकलन कर उनको सुरक्षा उपलब्ध करवाई जाएगी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें