ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ राजस्थानगहलोत सरकार का फैसला, 12 वीं तक के स्कूल 30 जनवरी तक बंद; दिए ये निर्देश

गहलोत सरकार का फैसला, 12 वीं तक के स्कूल 30 जनवरी तक बंद; दिए ये निर्देश

गहलोत सरकार ने प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मद्देनजर बड़ा निर्णय लेते हुए कक्षा 12 वीं तक के स्कूल 30 जनवरी तक बंद करने का निर्णय लिया है। राज्य के गृह विभाग द्वारा जारी गाइडलाइंस के अनुसार राज्य के...

गहलोत सरकार का फैसला, 12 वीं तक के स्कूल 30 जनवरी तक बंद; दिए ये निर्देश
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरSun, 09 Jan 2022 06:26 PM

गहलोत सरकार ने प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मद्देनजर बड़ा निर्णय लेते हुए कक्षा 12 वीं तक के स्कूल 30 जनवरी तक बंद करने का निर्णय लिया है। राज्य के गृह विभाग द्वारा जारी गाइडलाइंस के अनुसार राज्य के सभी नगर निगम और नगर पालिका क्षेत्र में 12 वीं तक के शैक्षणिक विद्यालय, कोचिंग 30 जनवरी तक बंद रहेंगी। लेकिन आनलाइन अध्ययन की अनुमति रहेगी। अंतिम संस्कार में 20 व्यक्ति ही शामिल हो सकेंगे। राज्य के सभी धार्मिक स्थलों को सुबह 5 बजे से रात्रि 8 बजे तक खुले रहने की अनुमति होगी। सभी दुकानों, प्रतिष्ठानों, व्यवसायिक गतिविधियों को रात्रि 8 बजे तक खोलने की अनुमति होगी। राज्य सरकार ने 15 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को घर में ही   अध्ययन करने का परामर्श जारी किया है। कक्षा 10  से 12 वीं तक के विद्यार्थियों को पढ़ाई से संबंधित समस्या के लिए माता-पिता की सहमति से स्कूल और कोचिंग जाने की अनुमति होगी।

महाविद्यालय और विश्वविद्यालय नहीं होंगे बंद

गहलोत सरकार की नई गाइडलाइंस के अनुसार कालेज और महाविद्यालयों पर पाबंदी नहीं लगाई गई है। सभी संस्थानों को कोविड दिशा-निर्देशों का पालन करना होगा।  विवाह समारोह में अधिकतम 100 व्यक्ति शामिल हो सकते हैं। जबकि नगर निगम और नगरपालिका क्षेत्रों में 30 जनवरी तक 50 व्यक्तियों को समारोह मे शामिल होने की अनुमति होगी। विवाह समारोह में बैंड-बाजा वादकों को उक्त संख्या में शामिल नहीं किया जाएगा। किसी समारोह के आयोजन से पूर्व की जानकारी संबंधित अधिकारी को देनी होगी।

धार्मिक स्थल सुबह 5 बजे से रात्रि 8 बजे तक खुले रहने की अनुमति

राज्य के सभी धार्मिक स्थल सुबह 5 बजे से रात्रि 8 बजे तक खुलने की अनुमति होगी। श्रद्धालुओं को डबल डोज वैक्सीनेशन और मास्क की पालना करनी होगी। धार्मिक स्थलों पर फूल प्रसाद, चादर व अन्य पूजा सामग्री ले जाने की अनुमति नहीं होगी। राज्य सरकार ने सभी मकर संक्रांति और लोहड़ी घर पर ही मनाने का परामर्श दिया है। रेस्टोरेंट एवं क्लबों द्वारा होम डिलीवरी की सुविधा 24 घंटे रहेगी। बैठाकर खाना खिलाने की सुविधा, बैठक व्यवस्था का 50 प्रतिशत क्षमता के साथ रहेगी। यह अनुमति रात्रि 10 बजे तक रहेगी। राज्य के सभी सिनेमा हाल, थियेटर, मल्टीप्लेक्स एवं सभागार 50 प्रतिशत क्षमता के साथ रात्रि 8 बजे तक खुलने की अनुमति रहेगी। सभी दुकानें, शाॅपिंग माल्स, अन्य व्यसायिक- व्यापारिक प्रतिष्ठानों को रात्रि 8 बजे तक खोलने की अनुमति रहेगी। 31 जनवरी तक सभी को कोरोना वैक्सीन की दोनो डोज लगवाने का समय दिया गया है।

जन अनुशासन कर्फ्यू  में इन्हें मिली छूट

गहलोत सरकार की नई गाइडलाइंस के मुताबिक जन अनुशासन कर्फ्यू रात्रि 11 बजे से सुबह 5 बजे तक रहेगा। इस दौरान सभी बाजार, काॅम्पलेक्स एवं कार्य स्थल बंद रहेंगे। वे फैक्ट्रियां, जिनमें निरंतर उत्पादन हो रहा हो। वे फैक्ट्रियां, जिनमें रात्रिकालिन शिफ्ट चालू हो। आईटी, दूरसंचार, ई-काॅमर्स कंपनियां। कैमिस्ट शाॅप, विवाह-समारोह आयोजन संबंधी, अनिवार्य एवं आपातकालीन सेवाओं से संबंधित कार्यालय। चिकित्सा सेवाओं से संबंधित कार्यस्थल, वैक्सीनेशन स्थल पर आने-जाने हेतु, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट से आने-जाने वाले यात्रीगण, माल परिवनह करने वाले भार वाहनों के आवागमन, माल के लोडिंग एवं अनलोडिंग तथा उक्त कार्य हेतु नियोजित व्यक्ति। इसके लिए पृथक से पास की आवश्यकता नहीं होगी। इन सभी पर जन अनुशासन कर्फ्यू लागू नहीं होगा 

 मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास ने दिया था स्कूल बंद करने का सुझाव 

सीएम गहलोत ने हाल में प्रदेश में बढ़ते ओमिक्राॅन और कोरोना केसों को लेकर मंत्रियों और विशेषज्ञों के साथ बैठक की थी। मुख्यमंत्री निवास पर वीसी के जरिए हुई बैठक में विशेषज्ञों ने इस बात को लेकर सुझाव दिए थे कि शैक्षणिक संस्थानों और धार्मिक स्थलों को बंद कर दिया जाए। खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने धार्मिक स्थलों को बंद करने का सुझाव दिया था। स्वास्थ्य मंत्री परसादी लाल मीणा ने भी स्कूलों पर ज्यादा ध्यान देने की बात कही थी। बैठक में यह भी सुझाव आया कि मंदिरों में लगातार श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ रही है। राजधानी जयपुर में कम्युनिटी स्प्रेड का खतरा बड़ रहा है। उसके मद्देनजन राज्य का गृह विभाग गाइडलाइन जारी की है।


 

epaper