ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानभजनलाल कैबिनेट में 17 नए चेहरों पर दांव, लोकसभा चुनाव में बीजेपी को कितना फायदा?

भजनलाल कैबिनेट में 17 नए चेहरों पर दांव, लोकसभा चुनाव में बीजेपी को कितना फायदा?

राजस्थान में भजनलाल शर्मा कैबिनेट का विस्तार में सोशल इंजीनियरिंग का पूरा ध्यान रखा गया है। टीम में पूरी तरह से जातिगत और क्षेत्रीय संतुलन नजर आया। लोकसभा चुनाव की झलक दिखाई दे रही है।

भजनलाल कैबिनेट में 17 नए चेहरों पर दांव, लोकसभा चुनाव में बीजेपी को कितना फायदा?
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरSun, 31 Dec 2023 08:36 AM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान में भजनलाल शर्मा कैबिनेट का विस्तार हो गया है। 22 में से 17 नए मंत्री बनाए गए है। ओबीसी से 4 मंत्री बनाए है। जबकि एसटी के 3 औऱ  राजपूत समुदाय से दो मंत्री बनाए गए है। कैबिनेट विस्तार में सोशल इंजीनियरिंग का पूरा ध्यान रखा गया है। भजनलाल शर्मा की टीम में पूरी तरह से जातिगत और क्षेत्रीय संतुलन नजर आया। इस दौरान मेवाड़, मारवाड़ और ब्रज के नेताओं को तवज्जो दी गई। तो अन्य क्षेत्रों से भी जीतकर आये विधायकों को शामिल किया गया। जातिगत लिहाज से ब्राह्मण मुख्यमंत्री के अलावा संजय शर्मा को स्वतंत्र प्रभार वाला मंत्री बनाया गया। इसी तरह से दलित उपमुख्यमंत्री प्रेमचंद बैरवा के अलावा मदन दिलावर और मंजू बाघमार को मंत्री बनाया गया। जबकि डॉक्टर किरोड़ीलाल मीणा, बाबूलाल खराड़ी और हेमंत मीणा आदिवासी समुदाय का प्रतिनिधित्व करेंगे। राजपूत समाज से दिया कुमारी को उपमुख्यमंत्री बनाने के साथ ही राज्यवर्धन सिंह और गजेंद्र सिंह खींवसर को मंत्री बनाया गया है।

4 जाट मंत्री बनाए गए, 1 गुर्जर

पिछड़ी जातियों को भजनलाल शर्मा के मंत्रिमंडल में प्रमुखता के साथ स्थान दिया गया। इसमें 4 जाट विधायकों में कन्हैयालाल चौधरी, सुमित गोदारा, झाबर सिंह खर्रा और विजय सिंह चौधरी को मौका मिला। इसी तरह से अन्य पिछड़ी जातियों से जोगाराम पटेल, अविनाश गहलोत, जोराराम कुमावत, हीरालाल नागर, ओटाराम देवासी और कृष्ण कुमार बिश्नोई मंत्री बने, तो इकलौते गुर्जर चेहरे के रूप में जवाहर सिंह बेढम को इस मंत्रिमंडल में शामिल किया गया। वैश्य समाज से एक मात्र मौका सादड़ी से विधायक गौतम कुमार दक को दिया गया। रावत समाज से मगरा बेल्ट में इस बार पुष्कर से लगातार जीत रहे सुरेश रावत को भी मंत्री बनाया गया है। 

25 मंत्रियों में महज दो महिलाएं

राजस्थान में कुल 200 विधायकों की क्षमता के मुताबिक भजनलाल शर्मा के मंत्रिमंडल में 30 मंत्री बन सकते है। हालांकि अब भी 5 विधायकों को मौका दिया जा सकता है, लेकिन अहम सवाल महिला विधायकों के प्रतिनिधित्व का है। जिसमें दिया कुमारी को उपमुख्यमंत्री बनाया गया है, तो वहीं मंजू बाघमार को राज्य मंत्री के रूप में जिम्मेदारी सौंपी गई है। डॉक्टर किरोड़ी लाल मीणा, गजेन्द्र सिंह खींवसर, कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़, बाबूलाल खराड़ी, मदन दिलावर, जोगाराम पटेल, सुरेश सिंह रावत, अविनाश गहलोत, जोगाराम कुमावत, हेमंत मीणा, कन्हैयालाल चौधरी और सुमित गोदारा ने शपथ ली। वहीं राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार के रूप में 5 विधायकों ने शपथ ली। इनमें संजय शर्मा, गौतम कुमार दक, झाबर सिंह खर्रा, सुरेन्द्र पाल सिंह टीटी और हीरालाल नागर ने शपथ ली। वहीं राज्यमंत्री के रूप में ओटाराम देवासी, डॉक्टर मंजू बाघमार, विजय सिंह चौधरी, कृष्ण कुमार बिश्नोई और जवाहर सिंह बेढम ने शपथ ली है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें