ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानदिल्ली कूच का नया प्लान, 500 ट्रैक्टरों के साथ जयपुर पहुंचेंगे किसान; एक और ऐलान

दिल्ली कूच का नया प्लान, 500 ट्रैक्टरों के साथ जयपुर पहुंचेंगे किसान; एक और ऐलान

हरियाण, पंजाब के किसानों के दिल्ली कूच के ऐलान के बाद अब राजस्थान के किसानों ने दिल्ली में डेरा डालने का ऐलान कर दिया है। 11 मार्च को 500 ट्रैक्टरों के साथ किसान जयपुर पहुंच रहे हैं।

दिल्ली कूच का नया प्लान, 500 ट्रैक्टरों के साथ जयपुर पहुंचेंगे किसान; एक और ऐलान
Mohammad Azamलाइव हिन्दुस्तान,जयपुरSat, 24 Feb 2024 08:14 PM
ऐप पर पढ़ें

Farmers Protest: राजस्थान में किसान न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर खरीद की गारंटी का कानून बनाने की मांग को लेकर अब दिल्ली कूच के लिए 11 मार्च को 500 ट्रेक्टरों के साथ जयपुर पहुंचेंगे। किसान महापंचायत के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामपाल जाट ने शनिवार को यह जानकारी देते हुए बताया कि एमएसपी पर खरीद की गारंटी के कानून के आंदोलन के क्रम में 11 मार्च को 500 से अधिक ट्रैक्टर जयपुर पहुंचेंगे और इसके बाद दिल्ली कूच किया जाएगा।

राजस्थान के किसानों के जयपुर में इकट्ठा होकर दिल्ली के बारे में जानकारी देते हुए रामपाल जाट ने कहा कि दिल्ली कूच के लिए गत 21 फरवरी को टोंक जिले से 106 ट्रैक्टरों के द्वारा जयपुर कूच किया गया था, जिन्हें पुलिस थाना बरौनी के क्षेत्र में रोकने पर पड़ाव डाला गया, जो रात साढ़े बारह बजे तक चला। उन्होंने बताया कि उनकी और अजमेर जिले के महामंत्री रामेश्वर कटसूरा की गिरफ्तारी के कारण 21 फरवरी को अजमेर जिले से ट्रैक्टर कूच नहीं हो सका था। अब कूच 11 मार्च को अजमेर जिले से शुरू होगा।

इस बारे में जानकारी देते हुए रामपाल जाट ने बताया कि इसमें अजमेर, दूदू एवं जयपुर जिले के किसान ट्रैक्टर से जयपुर पहुंचेंगे । इसके लिए पुलिस कमिश्नर जयपुर को स्थान उपलब्ध कराने के लिए आवेदन कर दिया गया है। जाट ने कहा कि यदि उनके आंदोलन को सरकार ने दबाने, कुचलने एवं रोकने का तानाशाही ढंग से प्रयास किया तो राजस्थान के 45000 गांव के बंद का आह्वान किया जायेगा । इस क्रम में 22 फरवरी को शहीद स्मारक किसान महापंचायत के पदाधिकारी ने धरना आयोजित कर सरकार को संकेत दे दिया । 23 फरवरी को जयपुर जिले के शाहपुरा में प्रमुख किसान प्रतिनिधियों की बैठक आयोजित हो चुकी है। उन्होंने बताया कि इसी तरह आगामी चार मार्च तक कई जिलों में अलग-अलग जगहों पर कार्यक्रम आयोजित होंगे।

बता दें कि हरियाणा और पंजाब के किसानों ने दिल्ली में विरोध प्रदर्शन करने की कोशिश की थी। सरकार ने किसानों पर हजारों आंसू गैस के गोले बरसाए। अब वहां स्थिति शांतिपूर्ण हो गई है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें