ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News राजस्थानकिरोड़ीलाल के इस्तीफे की चर्चाओं पर लगा विराम, शुरू किया कामकाज; कांग्रेस हुई हमलावर

किरोड़ीलाल के इस्तीफे की चर्चाओं पर लगा विराम, शुरू किया कामकाज; कांग्रेस हुई हमलावर

राजस्थान के कृषि मंत्री किरोड़ी लाल मीणा के इस्तीफे की चर्चाओं पर विराम लग गया है। वजह यह है कि किरोड़ी ने कामकाज शुरू कर दिया है। बजट पूर्व संवाद बैठक में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शामिल हुए।

किरोड़ीलाल के इस्तीफे की चर्चाओं पर लगा विराम, शुरू किया कामकाज; कांग्रेस हुई हमलावर
kirodi lala
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरFri, 21 Jun 2024 07:15 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान के कृषि मंत्री किरोड़ी लाल मीणा के इस्तीफे की चर्चाओं पर विराम लग गया है। वजह यह है कि किरोड़ी ने कामकाज शुरू कर दिया है। बता दें किरोड़ी लाल ने दौसा समेत 7 सीटों पर बीजेपी के चुनाव हारने पर मंत्री पद से इस्तीफा देने का ऐलान किया है। किरोड़ी के इस्तीफे को लेकर काफी ऊहापोह की स्थिति रही। हालांकि, किरोड़ी लाल ने माउंट आबू में संकेत दिए थे कि वह इस्तीफा नहीं देंगे। मंत्री मीणा सीएम भजनलाल शर्मा की अध्यक्षता में बुलाई गई किसानों, पशुपालकों और डेयरी संघ के प्रतिनिधियों के साथ बजट पूर्व संवाद बैठक में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शामिल हुए। 

किरोड़ीलाल को सीएमओ में चल रही प्री बजट बैठक में भी शामिल होना था, लेकिन वो नहीं आए। उनको छोड़कर पशुपालन मंत्री जोराराम कुमावत, जलसंसाधन मंत्री सुरेश रावत, ऊर्जा मंत्री हीरालाल नागर और सहकारिता मंत्री गौतम कुमार दक बैठक में शामिल हुए। किरोड़ीलाल मीणा की गैरमौजूदगी के बाद इस बात को लेकर चर्चा तेज हो गई कि वो पहले ही सरकार गाड़ी और ऑफिस आना छोड़ चुके हैं और अब बजट सुझाव को लेकर हो रही महत्वपूर्ण बैठक में भी शामिल नहीं हुए। ऐसे में उनके इस्तीफे की संभवना बढ़ जाती है, लेकिन इसी बीच किरोड़ीलाल मीणा वीसी के जरिए बैठक में शामिल हो गए। 

उल्लेखनीय है कि सीएम भजनलाल शर्मा सोमवार से ही अलग-अलग सेक्टर से जुड़े लोगों के साथ बजट पूर्व संवाद कर रहे हैं। अभी तक जितनी भी प्री बजट बैठकें हुई हैं। उन बैठकों में संबंधित विभाग से जुड़े मंत्री मौजूद रहे हैं। शुक्रवार को सीएमओ में किसान, पशुपालक और डेयरी प्रतिनिधियों के साथ सीएम संवाद कर रहे हैं।

 कैबिनेट मंत्री डॉ. किरोड़ीलाल मीणा ने दौसा लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी कन्हैयालाल मीणा के चुनाव हारने पर मंत्री पद से इस्तीफा देने का ऐलान किया था। किरोड़ी मीणा लगातार दौसा लोकसभा सीट से प्रचार के दौरान इस बात को लेकर बयान देते रहे। उन्होंने कहा था कि अगर उनके क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी की हार होती है तो उसकी जिम्मेदारी उनकी होगी और ऐसी स्थिति में वो मंत्री पद छोड़ देंगे। लोकसभा चुनाव में भाजपा प्रत्याशी कन्हैयालाल मीणा को हार का सामना करना पड़ा। चुनाव परिणाम सामने आने के बाद किरोड़ीलाल मीणा ने सोशल मीडिया प्लेटफार्म एक्स के जरिए इस्तीफे के संकेत भी दिए थे। उन्होंने ने लिखा कि 'रघुकुल रीत सदा चली आई, प्राण जाए पर वचन न जाए।'