DA Image
31 जुलाई, 2020|6:13|IST

अगली स्टोरी

राजस्थान में कोरोना से 11 और मौत, 886 नए मामले, कुल मरीजों की संख्या 33000 के पार

coronavirus  a team of doctors wearing protective suits check slum dwellers in bhopal   pti

राजस्थान में कोरोना वायरस संक्रमण से बृहस्पतिवार (23 जुलाई) को 11 और मौत दर्ज की गई जिससे राज्य में संक्रमण से मरने वालों की कुल संख्या 594 हो गई है। इसके साथ ही राज्य में 886 नए मामले सामने आने से राज्य में इस घातक वायरस से संक्रमितों की अब तक की कुल संख्या 33,220 हो गई, जिनमें से 8811 रोगी उपचाराधीन हैं।

एक अधिकारी ने बताया कि बृहस्पतिवार को अलवर, बीकानेर में तीन-तीन, पाली में दो, जालौर, जोधपुर, नागौर में एक-एक और व्यक्ति की संक्रमण से मौत हुई है। इससे राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण से मरने वालों की कुल संख्या 594 हो गई है। केवल जयपुर में कोरोना वायरस संक्रमण से मरने वालों की संख्या 179 हो गई है, जबकि जोधपुर में 74, भरतपुर में 46, कोटा्र बीकानेर में 30-30, अजमेर में 28, पाली में 24, नागौर में 21, और धौलपुर में 15 संक्रमितों की मौत हो चुकी है। अन्य राज्यों के 34 रोगियों की भी यहां मौत हुई है।

उन्होंने बताया कि बृहस्पतिवार रात साढ़े आठ बजे तक राज्य में संक्रमण के 886 नए मामले सामने आए। इनमें जोधपुर में 243, अलवर में 133, जयपुर में 95, पाली में 54, अजमेर में 43, सीकर में 42, कोटा-बीकानेर में 41-41, भरतपुर में 36, नागौर में 28, डूंगरपुर में 17, गंगानगर भीलवाड़ा में 15-15, बाड़मेर में 12, उदयपुर में 11, बारां में 10, बूंदी में 9, चूरू-हनुमानगढ़ में 6-6, बांसवाड़ा-करौली-सिरोही में 5-5, दौसा सवाईमाधोपुर में 3-3, जैसलमेर-झालावाड़-टौंक में दो दो, झुंझुनूं और चित्तौड़गढ़ में एक-एक मामले शामिल हैं। राज्यभर में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण कई थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा हुआ है।

राजस्थान में कोरोना वायरस से अधिक प्रभावित इलाकों में होगी 'रेंडम सेंपलिंग'
दूसरी ओर, राजस्थान के जिन इलाकों में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या ज्यादा है वहां 'रेंडम' और 'क्लस्टर सैम्पलिंग' के जरिए जांच का दायरा बढ़ाया जाएगा और इसकी शुरुआत जोधपुर शहर से होगी। राज्य के स्वास्थ्य और चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि प्रदेश में आने वाले, बिना किसी लक्षण के संक्रमित लोगों को चिन्हित करना या उनकी पहचान करना सबसे बड़ी चुनौती है और जांच के जरिए ही इस बात का पता लगाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि जोधपुर शहर में संक्रमित लोगों को चिन्हित करने के लिए रामगंज मॉडल में अपनाई गई 'रेंडम सैम्पलिंग' पद्धति अपनाई जाएगी।

चिकित्सा मंत्री ने कहा कि राज्य में ठीक होने वाले मरीजों का अनुपात देश के 10 बड़े राज्यों में सबसे बेहतर है और प्रदेश में मृत्यु दर भी राष्ट्रीय औसत से कम है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में मृत्यु दर 2.34% से 1.38% हो गई है। डॉ शर्मा ने कहा, ''प्लाज्मा थेरेपी का राज्य में सफल परीक्षण किया गया है। जयपुर के अलावा राज्य के अन्य जिलों में भी आईसीएमआर से अनुमति लेकर प्लाज्मा थेरेपी से इलाज करने के भी निर्देश दिए गए हैं।" उन्होंने कहा कि प्रदेश भर में ठीक होने वाले मरीजों का डेटा तैयार किया जाएगा। ऐसे लोगों को चिन्हित कर उन्हें प्लाज्मा दान करने के लिए भी प्रोत्साहित किया जाएगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Coronavirus Update 886 New Positive case with 11 More Death