ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News राजस्थान409 वोट से हारी थीं विधानसभा चुनाव, अब सांसद बन गईं कॉन्स्टेबल की पत्नी; फैन हुए सचिन पायलट

409 वोट से हारी थीं विधानसभा चुनाव, अब सांसद बन गईं कॉन्स्टेबल की पत्नी; फैन हुए सचिन पायलट

हाल ही में आए लोकसभा के नतीजों में राजस्थान की भरतपुर लोकसभा सीट से संजना जाटव ने जीत दर्ज की है। इस जीत के साथ ही संजना जाटव राजस्थान की सबसे कम उम्र में सांसद बन गई हैं। आइये जानते हैं संजना को।

409 वोट से हारी थीं विधानसभा चुनाव, अब सांसद बन गईं कॉन्स्टेबल की पत्नी; फैन हुए सचिन पायलट
Mohammad Azamलाइव हिन्दुस्तान,भरतपुरSat, 08 Jun 2024 10:07 PM
ऐप पर पढ़ें

हाल ही में आए लोकसभा चुनाव के नतीजों में कई युवा सांसद चुने गए हैं। इन युवा सांसदों में एक नाम राजस्थान की भरतपुर लोकसभा सीट से चुनकर आईं संजना जाटव का भी है। संजना जाटव राजस्थान की सबसे कम उम्री की सांसद होने का रिकॉर्ड बना दी हैं। पिछले साल हुए राजस्थान विधानसभा चुनावों में भी संजना को टिकट मिला था लेकिन वो मामूली वोटों के अंतर से चुनाव हार गईं थीं। 2024 के लोकसभा चुनावों में कांग्रेस पार्टी ने उनपर फिर से भरोसा जताया। पार्टी के भरोसे को संजना ने भुनाया और भरतपुर से भाजपा को हराकर सीट कांग्रेस की झोली में डाल दी। प्रदेश के पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने संजना की जमकर तारीफ की है।

कौन हैं संजना जाटव
संजना जाटव सामान्य परिवार से आती हैं। 12वीं की पढ़ाई पूरी होने के बाद ही उनकी शादी कॉन्स्टेबल कप्तान सिंह से कर दी गई थी। ससुराल वालों ने संजना को आगे पढ़ाने का फैसला कर लिया। वो सरकारी नौकरी की तैयारी करने लगीं। लेकिन नियती को कुछ और मंजूर था। संजना पढ़ाई करते-करते वहां एक्टिविज्म करने लगीं। इस दौरान राजनीति में आने का फैसला किया और जिला परिषद के सदस्य के तौर कैरियर की शुरुआत की। संजना की सक्रियता को देखकर कांग्रेस ने 2023 के विधानसभा चुनावों में उन्हें अलवर की कठूमर विधानसभा सीट से अपना उम्मीदवार बना दिया। हालांकि, इस चुनाव में  संजना 409 वोटों के मामलू अंतर से हार गईं।

अब बन गईं सांसद
2023 के विधानसभा चुनावों में मिली हार के बावजूद संजना जाटव पर कांग्रेस का भरोसा बरकरार रहा। 2024 के लोकसभा चुनावों में कांग्रेस ने एक बार फिर से संजना पर दांव लगाया। इस बार सीट थी राजस्थान की भरतपुर लोकसभा। संजना के नाम पर टिकट के ऐलान के बाद वहां उन्होंने खूब मेहनत की। इस बार संजना की मेहनत रंग लाई और भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी रामस्वरूप कोली को 51 हजार वोटों के अंतर से हरा दिया। इस जीत के साथ ही संजना राजस्थान की सबसे कम उम्र में चुनी गई सांसद बन गई हैं। उनसे पहले यह रिकॉर्ड प्रदेश के पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट के नाम था।

फैन बन गए सचिन पायलट
संजना जाटव की जीत के बाद सचिन पायलट ने जमकर तारीफ की। सचिन पायलट ने तारीफ करते हुए कहा कि पार्टी ने एक गरीब घर की नौजवान लड़की पर भरोसा जताया और वो जीतकर आईं ये राजनीति के लिए बहुत अच्छी बात है। इस दौरान सचिन पायलट ने सबसे कम उम्र का सांसद बनने का अपना रिकॉर्ड टूटने पर पायलट ने कहा कि रिकॉर्ड बनते ही हैं टूटने के लिए। उन्होंने कहा कि उन्हें खुशी है कि संजना ने उनका रिकॉर्ड तोड़ दिया है।