ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ राजस्थान'गहलोत के साथ 101 विधायक', कांग्रेस विधायक ने नेतृत्व परिवर्तन पर आलाकमान को चेताया

'गहलोत के साथ 101 विधायक', कांग्रेस विधायक ने नेतृत्व परिवर्तन पर आलाकमान को चेताया

राजस्थान के सीएम गहलोत के सलाहकार और निर्दलीय विधायक संयम लोढ़ा ने कहा कि मुख्यमंत्री के बहुमत के लिए फिर से हाथ खड़े करवा देना। 101 विधायक अशोक गहलोत के साथ खड़े मिलेंगे। गहलोत फिर सीएम बनेंगे।

'गहलोत के साथ 101 विधायक', कांग्रेस विधायक ने नेतृत्व परिवर्तन पर आलाकमान को चेताया
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरThu, 24 Nov 2022 07:53 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान की राजनीति में एक बार सियासी बवाल उठ खड़ा हुआ है। सीएम गहलोत समर्थक विधायकों ने पायलट के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। सीएम गहलोत के सलाहकार और निर्दलीय विधायक संयम लोढ़ा ने कहा कि मुख्यमंत्री के बहुमत के लिए फिर से हाथ खड़े करवा देना। 101 विधायक अशोक गहलोत के साथ खड़े मिलेंगे। जनता का आशिर्वाद मिला तो 2023 में अशोक गहलोत फिर से मुख्यमंत्री बनेंगे। कांग्रेस विधायक संयस लोढ़ा ने सिरोही में कहा कि सीएम अशोक गहलोत का कोई विकल्प नहीं है। संयम लोढ़ा के बयान से साफ जाहिर है कि सीएम अशोक गहलोत समर्थक विधायकों ने गहलोत के पक्ष के लाॅबिंग तेज कर दी है। कांग्रेस आलाकमान नेतृत्व परिवर्तन करता है तो गहलोत समर्थक विधायक बगावत कर सकते हैं। गहलोत समर्थक मंत्री पायलट पर निशाना साध रहे हैं। उल्लेखनीय है कि पायलट समर्थक लगातार नेतृत्व परिवर्तन की मांग कर रहे हैं। 

गहलोत के निशाने पर पायलट

बता दें, सीएम अशोक गहलोत ने आज कहा कि सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाने का विरोध किया जाएगा। जिन लोगों ने अमित शाह से कांग्रेस की सरकार को गिराने के लिए हाथ मिलाया। उन्हें कैंसे मुख्यमंत्री स्वीकार कर लेंगे। सचिन पायलट को प्रदेश की जनता से माफी मांगनी चाहिए। एक महीने तक गुड़गांव के होटल में रहे। सरकार को अस्थिर करने की कोशिश की। उस व्यक्ति को सीएम स्वीकार नहीं कर सकते है। 

पायलट ने किया गहलोत पर पलटवार

सीएम गहलोत द्वारा गद्दार बताए जाने पर सचिन पायलट ने कहा- आज से पहले भी सीएम गहलोत ने मेरे बारे में बहुत बातें बोली। मुझे नकारा और निकम्मा कहा, मैं कहना चाहता हूं कि आज इस तरह का बयान देने की कोई जरुरत नहीं है। वरिष्ठ नेता ऐसी बातें बोले, वह अनुचित, आरोप-प्रत्यारोप करना सही बात नहीं है। किसी भी व्यक्ति को इतना असुरक्षित नहीं रहना चाहिए, एकजुट नहीं रहेंगे तो जीतेंगे कैसे। एकजुट रहकर राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और खड़गे को मजबूत करने की जरूरत है। राहुल गांधी भारत जोड़ो यात्रा निकाल रहे हैं। हमें आज उनको मजबूती देने का काम करना चाहिए। 
 

epaper