कांग्रेस विधायक बिधूड़ी बोले- सीएम गहलोत अपने मंत्री के जेल जाने से डरते हैं, इसलिए नहीं करा रहे रीट मामले की सीबीआई जांच

चित्तौड़गढ़ जिले में बेगूं विधानसभा क्षेत्र के विधायक राजेंद्र सिंह बिधूड़ी ने कहा है कि सीएम गहलोत अपने मंत्री के जेल जाने से डरते हैं इसलिए रीट पेपर लीक मामले की जांच सीबीआई से नहीं करवा रहे हैं।

offline
Vishva Gaurav लाइव हिंदुस्तान , चित्तौड़गढ़।
Last Modified: Wed, 25 May 2022 5:02 PM

राजस्थान के चित्तौड़गढ़ जिले में बेगूं विधानसभा क्षेत्र के विधायक राजेंद्र सिंह बिधूड़ी ने एकबार फिर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर निशाना साधा है। बिधूड़ी ने कहा है कि सीएम गहलोत अपने मंत्री के जेल जाने से डरते हैं इसलिए रीट पेपर लीक मामले की जांच सीबीआई से नहीं करवा रहे हैं। बिधूड़ी के बयान का वीडियो भी सामने आया है। इससे पहले बिधूड़ी भैंसरोडगढ़ थाने के सीआई के साथ गाली-गलौज के मामले में चर्चा में आए थे।

बिधूड़ी ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ यह बयान पारसोली में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के नए भवन के लोकार्पण समारोह में दिया। वह इसमें बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए थे। बिधूड़ी ने दोबारा पुलिस को घेरते हुए कहा कि थाने से डोडाचूरा चोरी हो गया। इसकी भी सीबीआई से जांच करवानी चाहिए। इन सबको सस्पेंड करना चाहिए। मुख्यमंत्री ही गृहमंत्री भी हैं। उन्होंने कहा कि सीएम रीट मामले की जांच नहीं करवा सकते तो कम से कम पारसोली थाने से डोडाचूरा चोरी मामले की जांच तो करवानी चाहिए थी। बिधूड़ी ने कहा कि उन्होंने सीएम को इस बारे में पत्र भी लिखा है।

हारने वाले को सीएम ने राज्यमंत्री का दर्जा दे दिया
विधायक बिधूड़ी ने चित्तौड़ से कांग्रेस पार्टी के एक वरिष्ठ नेता पर तंज किया। उन्होंने कहा जो नेता दो बार पचास हजार वोटों से हारा है, उसको मुख्यमंत्री ने राज्यमंत्री का दर्जा दे दिया और जीतने वाले को नीचे गिरा दिया। हम विधायक जीतेंगे तभी तो मुख्यमंत्री बनोगे। हमें हमारे कार्यकर्ता जिताएंगे। जब कार्यकर्ता की कोई नहीं सुनेगा तो हम जीतेंगे कैसे? इस बयान के बाद चित्तौड़ से लेकर जयपुर तक सियासी माहौल गरमा गया है। इस वक्त सीएम राज्यसभा चुनाव जीतने के लिए विधायकों से बातचीत कर रहे हैं।

ऐप पर पढ़ें

Reet 2022 Reet Exam In 2022 REET Ashok Gehlot