ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ राजस्थानकांग्रेस नेता गोपाल केसावत की बेटी को गुजरात से किया दस्तयाब, पुलिस को मिली बड़ी सफलता

कांग्रेस नेता गोपाल केसावत की बेटी को गुजरात से किया दस्तयाब, पुलिस को मिली बड़ी सफलता

राजस्थान पुलिस ने कांग्रेस नेता गोपाल केसावत की पुत्री को गुजरात से दस्तयाब किया है। डीसीपी ईस्ट करण शर्मा को बड़ी सफलता मिली है। कांग्रेस नेता की बेटी अभिलाषा का सोमवार को अपहरण कर लिया था। 

कांग्रेस नेता गोपाल केसावत की बेटी को गुजरात से किया दस्तयाब, पुलिस को मिली बड़ी सफलता
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरThu, 24 Nov 2022 05:16 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान पुलिस ने कांग्रेस नेता गोपाल केसावत की पुत्री को गुजरात से दस्तयाब किया है। डीसीपी ईस्ट करण शर्मा को बड़ी सफलता मिली है। कांग्रेस नेता की बेटी अभिलाषा का सोमवार को अपहरण कर लिया था। पुलिस अभिलाषा को जयपुर ला रही है। पुलिस ने सकुशल दस्तयाब किया है। गोपाल केसावत ने राजधानी जयपुर के प्रतापनगर थाने में मामला दर्ज कराया था। बता दें कांग्रेस नेता की बेटी शाम को सब्जी लेने गई थी। कांग्रेस नेत गोपाल केसावत ने पुलिक को कुछ संदिग्धों ने नाम गिनाए थे। एयरपोर्ट के पास के परिजनों को स्कूटी मिली थी। 

सोमवार को कर लिया था अपहरण 

बता दें कि पूर्व राज्यमंत्री की 21 वर्षीय बेटी सोमवार शाम को 6 बजे बाद अचानक लापता हुई थी। वहीं, इसके बाद ही पूर्व राज्यमंत्री गोपाल केसावत ने सोमवार देर रात को प्रताप नगर थाने में किडनैपिंग की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पूर्व राज्यमंत्री गोपाल केसावत की बेटी के अपहरण के मामले को लेकर पुलिस कमिश्नर से आनंद श्रीवास्तव से भी मुलाकात की थी। पुलिस कमिश्नर की ओर से अलग-अलग टीमें बनवाकर मामले में कार्रवाई करवाए जाने का आश्वासन दिया था। पुलिस कमिश्नर से मुलाकात के बाद गोपाल केसावत ने अपने परिजनों और स्थानीय लोगों के साथ शहीद स्मारक पर धरना भी दिया था। 

पुलिस को मिली बड़ी सफलता 

पूर्व राज्यमंत्री गोपाल केसावत का कहना है कि उनकी बेटी स्कूटी लेकर सब्जी लेने घर से बाहर गई थी। उसके कुछ देर बाद बेटी के मोबाइल से फोन आया और कुछ लोगों की ओर से परेशान करने की बात कही। उसके बाद से ही उनकी बेटी लापता है. पुलिस ने आज प्रताप नगर इलाके से ही लापता युवती अभिलाषा की स्कूटी को बरामद किया है। कमिश्नरेट की ओर से CST और DST टीम को मामले में जल्द कार्रवाई करने के टास्क दिया गया था। पुलिस की टीमें अलग-अलग एंगल से जांच करते हुए अपहरणकर्ताओं तक पहुंचने में सफल रही।

epaper