किसान कर्जमाफी पर सीएम गहलोत को मिला पायलट कैंप का साथ, मोदी सरकार को घेरा

राजस्थान में कर्जमाफी के मुद्दे पर गहलोत-पायलट कैंप एक साथ हो गए है। दौसा जिले के रामगढ़ पचवारा में एक किसान की जमीन नीलामी के मामले पर गहलोत कैंप को पायलट कैंप का साथ मिला है। पायलट कैंप के माने...

offline
लाइव हिंदुस्तान , जयपुर Prem Meena
Last Modified: Fri, 21 Jan 2022 5:35 PM

राजस्थान में कर्जमाफी के मुद्दे पर गहलोत-पायलट कैंप एक साथ हो गए है। दौसा जिले के रामगढ़ पचवारा में एक किसान की जमीन नीलामी के मामले पर गहलोत कैंप को पायलट कैंप का साथ मिला है। पायलट कैंप के माने जाने वाले पूर्व मंत्री राजेंद्र चौधरी ने गहलोत सरकार का बचाव करते हुए मोदी सरकार पर जमकर निशान साधा है। प्रदेश उपाध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री राजेंद्र चौधरी ने राजधानी जयपुर में मीडिया से बात करते हुए कहा कि गहलोत सरकार ने कर्जमाफी का प्रस्ताव बनाकर मोदी सरकार को भेज दिया। केंद्र की ज्यादा जिम्मेदारी बनती है। गहलोत सरकार ने अपने अधीन आने वाले बैंकों में चल रहे किसानों के कर्ज माफ कर दिए है। राष्ट्रीयकृत बैंकों को लेकर परेशानी आ रही है। इसको लेकर भी गहलोत सरकार ने मोदी सरकार को प्रस्ताव बनाकर भेज दिया है। भाजपा बेवजह मामले को तूल दे रही है।

पूर्व मंत्री राजेंद्र बोले- मोदी सरकार जिम्मेदार

राज्य के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री राजेंद्र चौधरी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि भाजपा की कथनी और करनी में अंतर है। पीएम मोदी ने चुनावों में किसानों कर्ज माफ करने का वादा किया था। भाजपा ने किसानों की आय दो गुनी करने का वादा भी किया था। लेकिन भाजपा और पीएम मोदी किए गए वादों को भूल गए। गहलोत सरकार ने चुनाव जितने के बाद अपना वादा पूरा कर दिया है। मोदी सरकार को किसानों की कर्जमाफी पर पहल करनी चाहिए। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष किसानों के नाम पर राजनीति कर रहे हैं। भाजपा नेता किसानों की हितैषी बनते हैं तो मोदी सरकार से गहलोत सरकार के प्रस्ताव को मंजूरी दिलवाए। उल्लेखनीय है कि राजेंद्र चौधरी पायलट कैंप के माने जाते हैं। सीएम गहलोत पर समय-समय पर हमला बोलते रहे हैं। लेकिन किसान कर्जमाफी के मामले को लेकर पायलट कैंप के वरिष्ठ नेता ने गहलोत सरकार का साथ दिया है। 

कर्जमाफी को भाजपा ने बनाया मुद्दा 

उल्लेखनीय है कि दौसा जिले के रामगढ़ पचवारा के एक किसान की जमीन नीलामी मामले से राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी भाजपा गहलोत सरकार पर हमलावर है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया और केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिं शेखावत ने गहलोत सरकार पर जमकर निशाना साधा। पूनिया ने कहा कि गहलोत सरकार ने जनता से झूठें वादें किए। भाजपा सांसद किरोड़ीलाल मीणा ने गहलोत सरकार से कर्जदार किसानों की नीलामी प्रक्रिया निरस्त करने की मांग की है। दौसा जिले में एक किसान की 15 बीघा से अधिक जमीन की 46 लाख रुपये में नीलामी हो गई, लेकिन मामला सुर्खियों में आने के बाद सीएम गहलोत ने प्रदेश में कर्जदार किसानों की भूमि की नीलामी की प्रक्रिया रोकने के निर्देश सभी जिला कलेक्टरों को जारी कर दिए।

ऐप पर पढ़ें