ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ राजस्थान'नोटबंदी पर सवाल उठाया था क्या' गहलोत का ओल्ड पेंशन स्कीम की बहाली पर नीति आयोग को  जवाब

'नोटबंदी पर सवाल उठाया था क्या' गहलोत का ओल्ड पेंशन स्कीम की बहाली पर नीति आयोग को  जवाब

राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने पुरानी पेंशन योजना बहाली पर नीति आयोग के एतराज पर जवाब दिया है। कहा- उन सबको पूछना चाहिए कि नोटबंदी जो हुई थी। उस वक्त आपने क्या सवाल उठाया था क्या।

'नोटबंदी पर सवाल उठाया था क्या' गहलोत का ओल्ड पेंशन स्कीम की बहाली पर नीति आयोग को  जवाब
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरTue, 29 Nov 2022 05:09 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने पुरानी पेंशन योजना बहाली पर नीति आयोग के एतराज पर जवाब दिया है। गहलोत ने कहा- मैं आपसे कहना चाहूंगा कि नीति आय़ोग कहो, चाहे और अर्थशास्त्री भी कह रहे हैं। आरबीआई भी कह सकता है। परंतु उन सबको पूछना चाहिए कि नोटबंदी जो हुई थी। उस वक्त आपने क्या सवाल उठाया था। नोटबंदी बहुत बड़ा मुद्दा था। बिना आरबीआई के पूछे हुए, बिना विश्वास में लिए हुए नोटबंदी कर दी गई। लोग लाइनों में लग गए गए। कितने लोग मर गए है। कितने लोग मर गए थे। ये तो हमारे सरकारी कर्मचारी है। जो गवर्नेंस के कामयाब होने में मदद करते है। बल्कि गवर्नेस में सहयोगी होते है। उनके लिए मानवीय दृष्टिकोण से हमने फैसला लिया है। बता दें, हाल ही में OPS को लेकर केन्द्र सरकार की असहमति और आपत्तियां सामने आई हैं। नीति आयोग के उपाध्यक्ष सुमन बेरी ने यह आपत्तियां जताई हैं। इन्हें आयोग की ओर से सभी राज्यों को भेजा जा रहा है। नीति आयोग के अध्यक्ष प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हैं

पूरे देश में लागू करें ओपीएस

मैं नीति आयोग को कहना चाहूंगा। हमने मोदीजी को भी कहा है। आप कृपा करके हमारी जो योजनाएं है। चाहे वह ओपीएस है, चाहे वो चिरंजीवी योजना है। महिलाओं के लिए नेपकीन योजना है। हमारी कई योजनाएं ऐसी है जिनको पूरे देश लागू करना चाहिए। पेंशन योजना। बुजुर्गों के लिए। विधवाओं के लिए, साथ में निशक्तजनों के लिए। 800 रुपये देते हैं राज्य में। केंद्र को नीति बनाई जानी चाहिए। अब जमाना आ गया है। देश 21 वीं सदी में पहुंच गया है। नीति बने देश के लिए। पेंशन नीति बने। दुनिया के मुल्कों में हर सप्ताह घरों में पैसा पहुंचता है। जिससे परिवार तकलीफ में नहीं आए। वहीं स्थिति देश में लागू होना चाहिए। तो हमारी जो योजना 4-5 ऐसी है, जिनकों केंद्र को अपनाना चाहिए। पूरे देश में। 

राजस्थान में बीजेपी की दुर्गति हो रही है

सीएम गहलोत ने नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया के बयान सीएम जिनसे नाराज है तो उन पर कार्रवाई क्यों नहीं की, इसके जबाव में सीएम गहलोत ने कहा कि वो पंचायती हमारी वो करेंगे। अपना घर संभाल लें। 5-7 तो वहां बैठे हुए, आपस में लड़ रहे हैं। उनकों क्या कमेंट करने की जरूरत है। हमारी पार्टी पर। कटारिया अपना घर संभाल लेंगे वहीं बहुत है। राजस्थान में बीजेपी की दुर्गति हो रही है।