ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News राजस्थानराजस्थान के बजरी कारोबारी के 14 से ज्यादा ठिकानों पर CBI की छापेमारी

राजस्थान के बजरी कारोबारी के 14 से ज्यादा ठिकानों पर CBI की छापेमारी

राजस्थान में बजरी कारोबारी मेघराज सिंह रॉयल (मेघराज ग्रुप) के अलग-अलग ठिकानों पर सीबीआई ने छापेमारी की है। सीबीआई ने जयपुर में ग्रुप के ऑफिस समेत 14 ठिकानों पर रेड मारी है। अहम दस्तावेज मिले है।

राजस्थान के बजरी कारोबारी के 14 से ज्यादा ठिकानों पर CBI की छापेमारी
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरSat, 22 Jun 2024 04:32 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान में बजरी कारोबारी मेघराज सिंह रॉयल (मेघराज ग्रुप) के अलग-अलग ठिकानों पर सीबीआई ने छापेमारी की है। सीबीआई की टीम जयपुर में ग्रुप के 200 फीट बायपास के पास स्थित ऑफिस समेत 14 ठिकानों पर रेड मारी है। इनमें मेघराज सिंह के घर, चौमूं सर्किल स्थित कार्यालय पर रेड मारी है। जयपुर के अलावा टोंक, भरतपुर, सवाई माधोपुर और नागौर में भी छापेमारी की गई है। सीबीआई की टीम बजरी कारोबारी के ठिकानों से दस्तावेजों की जांच कर रही है। कारोबारी के ठिकानों पर काफी मात्रा में नकदी और अहम दस्तावेज बरामद किए गए हैं।

जानकारी के मुताबिक प्रवर्तन निदेशालय ने अवैध रेत खनन मामले में बजरी कारोबारी के खिलाफ केस दर्ज किया था। ईडी अधिकारियों को बजरी कारोबारी ग्रुप के ठिकानों से कई अहम सबूत मिले थे। उसके बाद प्रवर्तन निदेशालय ने बजरी कारोबारी और ग्रुप के अन्य लोगों को पूछताछ के लिए दिल्ली ऑफिस में बुलाया था। ग्रुप से जुड़े कई लोग ईडी कार्यालय नहीं पहुंचे थे। उसके बाद मामला सीबीआई को दिया गया। काफी समय से सीबीआई के अधिकारी मामले में जांच पड़ताल करते हुए बजरी कारोबारी पर नजर बनाए हुए थे। सीबीआई ने मामले में एक्शन करते हुए शनिवार को बजरी कारोबारी के करीब एक दर्जन ठिकानों पर छापेमारी की है।

टोंक जिले में बजरी नाके पर भी सीबीआई की ओर से कार्रवाई की जा रही है। टोंक जिले के बनास क्षेत्र स्थित बजरी कारोबारी के ऑफिस में छापेमारी जारी है। कारोबारी के ऑफिस में दस्तावेजों की जांच पड़ताल की जा रही है। नेशनल हाइवे पर स्थित कार्यालय पर भी दस्तावेजों को सर्च किया जा रहा है। सवाई माधोपुर के चौथ का बरवाड़ा क्षेत्र में भी सीबीआई की टीम छापेमारी की कर्रवाई कर रही है।

जानकारी के मुताबिक 14 फरवरी को बजरी कारोबारी के ठिकानों पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने छापेमारी की कार्रवाई की थी। ईडी अधिकारियों ने बजरी कारोबारी के ठिकानों से करीब 37 लाख रुपए से अधिक नकदी, हार्ड डिस्क, मोबाइल फोन समेत डिजिटल सबूत सीज किए थे। प्रवर्तन निदेशालय की टीम ने कारोबारी के कई ठिकानों पर छापा मारा, लेकिन कारोबारी कहीं पर भी नहीं मिला था। 2020 में राजनीतिक उठापटक के दौरान बजरी कारोबारी के जैसलमेर स्थित बड़े नामी होटल में कांग्रेस नेताओं की बाड़ेबंदी हुई थी।