ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News राजस्थानपाकिस्तान बॉर्डर पर BSF ने पकड़ी हेरोइन की बड़ी खेप, ड्रोन से भेजी जा रही थी भारत; करोड़ों में कीमत

पाकिस्तान बॉर्डर पर BSF ने पकड़ी हेरोइन की बड़ी खेप, ड्रोन से भेजी जा रही थी भारत; करोड़ों में कीमत

सुरक्षा बलों ने शनिवार को राजस्थान के अनूपगढ़ जिले में पाकिस्तान से ड्रोन के जरिए तस्करी कर लाई जा रही 12 किलोग्राम हेरोइन जब्त की। पुलिस के अनुसार हेरोइन की कीमत 60 करोड़ रुपये है।

पाकिस्तान बॉर्डर पर BSF ने पकड़ी हेरोइन की बड़ी खेप, ड्रोन से भेजी जा रही थी भारत; करोड़ों में कीमत
Mohammad Azamलाइव हिन्दुस्तान,जयपुरSat, 15 Jun 2024 05:20 PM
ऐप पर पढ़ें

सुरक्षा बलों ने शनिवार को राजस्थान के अनूपगढ़ जिले में पाकिस्तान से ड्रोन के जरिए तस्करी कर लाई जा रही 12 किलोग्राम हेरोइन जब्त की। पुलिस के अनुसार हेरोइन की अनुमानित कीमत 60 करोड़ रुपये है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि सीमा सुरक्षा बल (BSF) और पुलिस ने जिले के अनूपगढ़ और समेजा कोठी थाना क्षेत्रों से छह-छह किलोग्राम वजन की हेरोइन की दो खेप बरामद की, इन्हें ड्रोन के जरिए पाकिस्तान से तस्करी कर लाया जा रहा था।

इस बारे में जानकारी देते हुए पुलिस ने बताया कि अनूपगढ़ थाना क्षेत्र में आज सुबह कैलाश चौकी के पास ‘13 के गांव’ में ड्रोन की आवाज सुनने के बाद बीएसएफ के जवानों ने गोलियां चलाईं। संयुक्त तलाशी के दौरान बीएसएफ के जवानों और पुलिस कर्मियों को छह किलोग्राम वजन के हेरोइन के दो पैकेट मिले। इस खेप की कीमत 30 करोड़ रुपये आंकी गई है।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि समेजा कोठी थाना क्षेत्र में दूसरी घटना में स्थानीय लोगों ने ड्रोन की आवाज सुनी और पुलिस को सूचना दी और उस स्थान पर पहुंचे जहां तस्कर खेप लेने आए थे। अधिकारियों ने बताया कि ग्रामीणों और पुलिस दल को देखकर तस्करों ने गोलियां चला दीं और भागने में सफल रहे। इस दौरान जवानों को भारी मात्रा में हेरोइन के पैकेट बरामद हुए। इसकी बाजार में कीमत करोड़ों में बताई जा रही है। मामले की जांच की जा रही है।

इस घटना के बारे में बात करते हुए पुलिस अधिकाी ने बताया कि तलाशी के दौरान 30 करोड़ रुपये मूल्य की छह किलोग्राम हेरोइन से भरे दो पैकेट बरामद किए गए। अनूपगढ़ के पुलिस अधीक्षक रमेश मोरया ने बताया कि पाकिस्तान से ड्रोन के जरिए लगातार मादक पदार्थों की तस्करी की जा रही है और जल्द ही ड्रोन का पता लगाने और निष्क्रिय करने के लिए सीमा क्षेत्र में ड्रोन रोधी प्रणाली लगाई जाएगी।