ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानजयपुर एयरपोर्ट को बम से उड़ने की धमकी, साइबर टीम जांच में जुटी

जयपुर एयरपोर्ट को बम से उड़ने की धमकी, साइबर टीम जांच में जुटी

राजस्थान की जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट को एक बार फिर बम से उड़ाने की धमकी शुक्रवार को मिली। धमकी सूचना पर जांच एजेंसिया एयरपोर्ट पहुंच गई है। चप्पे-चप्पे की तलाशी ली गई है। जांच में मामला फर्जी निकला।

जयपुर एयरपोर्ट को बम से उड़ने की धमकी, साइबर टीम जांच में जुटी
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरFri, 16 Feb 2024 05:52 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान की जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट को एक बार फिर बम से उड़ाने की धमकी शुक्रवार को मिली। धमकी सूचना पर जांच एजेंसिया एयरपोर्ट पहुंच गई है। चप्पे-चप्पे की तलाशी ली गई है। हालांकि, जांच में ऐसा कुछ भी नहीं निकला है। दरअसल आज धमकी वाला मेल प्राप्त होने के बाद सीआईएसएफ अलर्ट हो गई। पुलिस प्रशासन को भी सूचना दी गई। पूरे एयरपोर्ट पर सर्च ऑपरेशन चलाया गया। बम स्क्वायड टीम ने चप्पे- चप्पे पर जांच की। जांच में एयरपोर्ट पर कहीं पर भी कोई विस्फोटक नहीं मिला। उल्लेखनीय है कि डेढ़ महीने में दूसरी बार जयपुर एयरपोर्ट को बम से उड़ने की धमकी मिली थी। इससे पहले 27 दिसंबर को धमकी भरा मेल मिला था।

डीसीपी ईस्ट ज्ञानचंद यादव के मुताबिक जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट की ऑफिशल मेल पर एयरपोर्ट को बम से उड़ाने की धमकी मिली थी। बीती रात को जयपुर एयरपोर्ट की ऑफिशल मेल एड्रेस पर मेल आया था। करीब 10 घंटे बाद सीआईएसएफ को धमकी भरे मेल के बारे में जानकारी मिली।  इसके बाद सीआईएसएफ अलर्ट हो गई। मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस और बम स्क्वायड टीम मौके पर पहुंची। सुरक्षा एजेंसियों ने जयपुर एयरपोर्ट पर सघन चेकिंग अभियान चलाया। एयरपोर्ट पर भारी पुलिस जाप्ता तैनात किया गया। बम निरोधक दस्ता, डॉग स्क्वायड और क्यूआरटी ने भी चेकिंग की।

 चप्पे- चप्पे पर पुलिस की टीमों ने सर्च ऑपरेशन चलाया. एयरपोर्ट बिल्डिंग, पार्किंग एरिया, एप्रन एरिया समेत चप्पे- चप्पे पर चेकिंग की गई। जांच में कहीं पर भी कोई बम या संदिग्ध चीज नहीं मिला है। बता दें कि डेढ़ महीने में दूसरी बार जयपुर एयरपोर्ट को धमकी भरा मेल प्राप्त हुआ है। अज्ञात लोगों की ओर से एयरपोर्ट की ऑफिशियल ईमेल पर मेल भेजकर जयपुर एयरपोर्ट को बम से उड़ाने की धमकी मामले में एयरपोर्ट प्रशासन की ओर से एयरपोर्ट थाने में इसकी रिपोर्ट दर्ज करवाई गई है. मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस मामले की जांच पड़ताल में जुट गई है। साइबर एक्सपर्ट की मदद ली जा रही है।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें