ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ राजस्थानराहुल गांधी ने अडानी पर उठाए थे सवाल, गहलोत ने दी जमीन; बीजेपी ने कांग्रेस को घेरा, जानें मामला

राहुल गांधी ने अडानी पर उठाए थे सवाल, गहलोत ने दी जमीन; बीजेपी ने कांग्रेस को घेरा, जानें मामला

राजस्थान में अडानी ग्रूप को सोलर पावर प्लांट के लिए जमीन देने के निर्णय पर भाजपा ने सीएम सीएम गहलोत पर निशाना साधा है। अडानी को कठघरे में खड़ा करे वाली कांग्रेस ने परदे के पीछे डील की है।

राहुल गांधी ने अडानी पर उठाए थे सवाल, गहलोत ने दी जमीन; बीजेपी ने कांग्रेस को घेरा, जानें मामला
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरSun, 12 Jun 2022 06:36 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान की गहलोत सरकार ने बड़ा निर्णय लेते हुए मैसर्स अडानी रिन्यूवेबल एनर्जी होल्डिंग फॉर लिमिटेड को 1000 मेगावाट सोलर पावर प्रोजेक्ट की स्थापना के लिए सरकारी भूमि आवंटित करने का निर्णय लिया है। सरकार के इस निर्णय पर बीजेपी हमलावर हो गई है। उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र सिंह राठौड़ ने कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी अपने भाषणों में अडानी समूह को लगातार आरोपों के कटघरे में खड़ा करते हैं। गहलोत का अडानी प्रेम जगजाहिर हो गया है। कांग्रेस परदे के पीछे अडानी से सौदेबाजी करती है। उल्लेखनीय है कि सीएम गहलोत की अध्यक्षता में शनिवार को हुई कैबिनेट की बैठक में जैसलमेर जिले के ग्राम बांधा में 9479.15 बीघा (2397.54 हैक्टेयर) राजकीय भूमि मैसर्स अडानी रिन्यूवेबल एनर्जी होल्डिंग फॉर लिमिटेड को 1000 मेगावाट सोलर पावर प्रोजेक्ट की स्थापना के लिए कीमतन सरकारी भूमि आवंटित करने का निर्णय लिया गया है। करीब 6 महीने पर जयपुर हुई रैली में राहुल गांधी ने केंद्र सरकार के बहाने अडानी ग्रुप को घेरा था।

राठौड़ बोले- कांग्रेस के संबंध हुए उजागर

उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने  मोदी सरकार पर उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाने का आरोप लगाने वाली कांग्रेस खुद अडानी समूह को बड़े-बड़े प्रोजेक्ट सौंप रही है। इससे कांग्रेस का उद्योगपतियों के साथ घनिष्ठ संबंध उजागर हो गया है। वर्तमान में राज्य के हर विद्युत उपभोक्ता को 5 पैसे प्रति यूनिट अडानी टैक्स पिछले 18 माह से देना पड़ रहा है जो आगामी 18 माह तक जारी रहेगा। अडानी टैक्स का भार राज्य के 1.52 करोड़ विद्युत उपभोक्ताओं पर पड़ रहा है। सरकार अपनी तिजोरी भर रही है

कांग्रेस की कथनी और करनी में अंतर

उन्होंने कहा कि कांग्रेस को अडानी समूह फूटी आंख नहीं सुहाता है, लेकिन उनके साथ परदे के पीछे डील कर जनता की आंखों में धूल झोंकने के काम इसी कांग्रेस सरकार के राज में लगातार हो रहा है। अडानी समूह को पानी पी-पी कर कोसने वाली कांग्रेस को अब समझना चाहिए कि जिनके खुद के घर शीशे के होते हैं, वह दूसरों पर पत्थर नहीं फेंका करते है। राठौड़ ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के नेता राहुल गांधी एक ओर अपने भाषणों में अडानी समूह को लगातार आरोपों के कटघरे में खड़ा करते हैं। कांग्रेस शासित सरकार उसी अडानी समूह को बार-बार उपकृत कर कभी कोयला खरीद तो कभी सोलर पावर प्रोजेक्ट के लिए चयनित करने का काम कर रही है।

epaper