ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानERCP पर बीजेपी ने किसानों को फिर धोखा दिया, बोलीं कांग्रेस; हिम्मत सिंह ने बताए ये कारण

ERCP पर बीजेपी ने किसानों को फिर धोखा दिया, बोलीं कांग्रेस; हिम्मत सिंह ने बताए ये कारण

राजस्थान कांग्रेस ने ईआरसीपी के मुद्दे पर बीजेपी पर किसानों का धोखा देने का आरोप लगाया है। कांग्रेस नेता हिम्मत सिंह गुर्जर ने कहा कि बीजेपी किसानों को कब तक ठगेगी। चुनाव आते ही वादा याद आया है।

ERCP पर बीजेपी ने किसानों को फिर धोखा दिया, बोलीं कांग्रेस; हिम्मत सिंह ने बताए ये कारण
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरMon, 29 Jan 2024 09:09 AM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान कांग्रेस ने ईआरसीपी के मुद्दे पर बीजेपी पर किसानों का धोखा देने का आरोप लगाया है। कांग्रेस नेता हिम्मत सिंह गुर्जर ने कहा कि भाजपा पूर्वी राजस्थान प्रदेश की जनता और किसानों को कब तक ठगती रहेगी? पूर्वी राजस्थान के किसानों के साथ भाजपा की केन्द्र और राजस्थान सरकार ने फिर से धोखा दिया है। वर्ष-2004 अटल बिहारी वाजपेयी जी वाली केंद्र सरकार ने देश में नदियों को जोड़ने घोषणा की थी उन्होंने 31 रिवर इंटरलिंक्स चिन्हित किए थे। जिसका नामकरण PKC रखा गया पर परियोजना काग़ज़ों तक सीमित रही। 2016-17 BJP सरकार की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे जी ने ERCP की DPR बनाई। इसी DPR को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी 2 बार राजस्थान में आकर इस परियोजना को राष्ट्रीय परियोजना घोषणा करने का वायदा किया और फिर भी पांच साल तक इसे लटकाए  रखा। 

हिम्मत सिंह ने लगाया राजनीति का आरोप

हिम्मत सिंह ने आरोप लगाया कि ERCP पर कांग्रेस पार्टी की सरकार ने बिना दुर्भावना के पूर्व DPR पर इस योजना को पूरा करने के लिये इसे गति दी। नवनेरा व ईसरदा बांध बनकर तैयार है। BJP की केंद्र सरकार की आमजन विरोधी नीतियों के कारण इस योजना को लटकाए रखा। किंतु तत्कालीन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पूर्वी राजस्थान के नागरिकों व किसानों के दर्द को समझते हुए राज्य सरकार के संसाधनों से इस योजना को पूरा करने का संकल्प लिया..न केवल DPR बनी बल्कि नवनेरा व ईसरदा बांध भी बन कर तैयार हो गए।  बीजेपी की केंद्र सरकार के कारण करोड़ो लोगो के जीवन से जुड़ी जीवनदायनी परियोजना को 5 साल तक लटकाए रखा। पूर्वी राजस्थान की जनता के साथ यह धोखा है।

बीजेपी ने किसानों के साथ किया खिलवाड़

हिम्मत सिंह का कहना है कि 25 के 25 सांसद राजस्थान से BJP के थे। जलशक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत भी राजस्थान के ही थे। भाजपा पार्टी की सरकार द्दारा बनाये गये PKC बनाम ERCP प्रोजेक्ट को धरातल पर लाने में 20 साल लग गए। अभी तक PKC बनाम ERCP काग़ज़ों में हैं। आज मध्यप्रदेश और राजस्थान के मुख्यमंत्रियों का MOU बनाम MOU का खेल चला है। क्योंकि चुनाव वाले वाले भाजपा केवल राजनैतिक लाभ वोट लेने के के लिये फिर से MOU का खेल, खेल रही है। अब पूर्वी राजस्थान की जनता विशेषकर किसान लोकसभा चुनावों में न केवल 20 साल लटकाए रखने का हिसाब मांगेगे बल्कि चुनाव में जनता और किसानों के साथ किये इस खिलवाड़ का हिसाब भी चुकता  कर इनका सफाया करेंगे। 
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें