ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ राजस्थानराहुल गांधी की अशोक गहलोत संग सेल्फी, पायलट समर्थकों की नारेबाजी; जानें वजह

राहुल गांधी की अशोक गहलोत संग सेल्फी, पायलट समर्थकों की नारेबाजी; जानें वजह

राजस्थान में राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा की राजस्थान में एंट्री के दौरान राहुल गांधी ने सीएम गहलोत संग सेल्फी लेकर सियासी अटकलों को फिर वहा दे दी है। पायलट के समर्थक इससे नाराज हो गए।

राहुल गांधी की अशोक गहलोत संग सेल्फी, पायलट समर्थकों की नारेबाजी; जानें वजह
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरMon, 05 Dec 2022 11:34 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान में राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा की राजस्थान में एंट्री के दौरान राहुल गांधी ने सीएम गहलोत संग सेल्फी लेकर सियासी अटकलों को फिर वहा दे दी है। पायलट के समर्थकों को यह नागवार लगा तो पायलट के समर्थन में नारेबाजी करना शुरू कर दिया। राहुल गांधी ने अपने भाषण में दो बार सीएम गहलोत का नाम लिया। जबकि एक बार पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा का नाम लिया। पायलट का नाम नहीं लेने पर समर्थक भड़क गए। पायलट के समर्थन में नारेबाजी करना शुरू कर दिया। राहुल गांधी के भाषण में सचिन पायलट की अनदेखी सियासी तौर पर एक बड़ा संदेश माना जा रहा है। राजनीतिक हल्कों में यह चर्चा का विषय बन गया है कि आने वाले समय में सीएम गहलोत का दबदबा बढ़ेगा। गहलोत सीएम बने रहेंगे। 

नाम नहीं लेने से पायलट समर्थक नाराज 

बता दें, गहलोत-पायलट की बीच सीजफायर होने के बाद लोग यह देखने को उत्सुक थे कि राहुल गांधी दोनों नेताओं में किसे ज्यादा तवज्जो देते हैं। लेकिन राहुल गांधी ने अपने संबोधन में गहलोत, डोटासरा और केसी वेणुगोपाल का नाम लिया। एक बार तो राहुल गांधी गहलोत के साथ सेल्फी लेते हुए भी नजर आए। हालांकि, सहरिया नृत्य के दौरान राहुल गांधी ने सीएम गहलोत और पायलट दोनों का हाथ पकड़कर नृत्य करवाया। इस दौरना पायलट और गहलोत की केमिस्ट्री भी देखने लायक थी।  पायलट समर्थकों और गहलोत के समर्थकों के बीच अब फोटो वाॅर शुरू हो गया है। दोनों ही नेताओं के समर्थक सोशल मीडिया पर अपने-अपने हिसाब से फोटो शेयर कर रहे हैं। सचिन पायलट के समर्थकों की फोटों में राहुल गांधी संग सीएम गहलोत नहीं दिखाई दे रहे हैं। सिर्फ सचिन पायलट दिखाई दे रहे हैं। 

राहुल ने एंट्री के बाद किया सफर शुरू

राजस्थान में एंट्री के बाद राहुल गांधी ने आज अपना सफर शुरू किया। मुंबई आतंकी हमले की एकमात्र चश्मीद गवाह आज राहुल गांधी से मिली। देविक ने राहुल गांधी के यात्रा को देश के लिए यात्रा बताया।  बता दें, देविका को मुंबई आतंकी हमले में गोली लगी थी। उस समय देविका मात्र 9 साल की थी। तब मासूब बच्ती ने आतंकी कसाब को फायरिंग करते हुए देखा था।  देविका गवाह बनी और  कसाब को सजा दिलवाने में यह गवाही काफी अहम मानी गई। राहुल गांधी की यात्रा चवली से काली तलाई पहुंची है।  वाहनों का काफिला है। काफिले में सीएम अशोक गहलोत, पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट, पूर्व केंद्रीय मंत्री भंवर जितेंद्र सिंह, पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासार और राष्ट्रीय संगठन मंत्री केसी वेणुगोपाल के साथ-साथ गहलोत कैबिनेट के मंत्री भी शामिल थे।  राहुल गांधी सीएम अशोक गहलोत और सचिन पायलट के साथ-साथ कभी-कभी राजस्थान के मंत्रियों से बात करते हुए नजर आए। राहुल गांधी के साथ भारी पुलिस का लवाजमा चल रहा है।  राहुल गांधी के आगे-पीछे हजारों की संख्या में मार्च कर रहे हैं। सड़क किनारे राहुल गांधी को देखने वालों की संख्या में खासी तादात में दिखाई दी।