ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानइंडिया गठबंधन में शामिल नहीं होगी भारत आदिवासी पार्टी, बोले विधायक राजकुमार रोत

इंडिया गठबंधन में शामिल नहीं होगी भारत आदिवासी पार्टी, बोले विधायक राजकुमार रोत

भारत आदिवासी पार्टी राजस्थान ने लोकसभा चुनाव में इंडिया गठबंधन में शामिल होने से साफ इंकार कर दिया है। विधायक राजकुमार रौत ने कहा कि लोकसभा चुनाव उनकी पार्टी अकेले ही लड़ेगी। किसी से गठबंधन नहीं।

इंडिया गठबंधन में शामिल नहीं होगी भारत आदिवासी पार्टी, बोले विधायक राजकुमार रोत
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरFri, 19 Jan 2024 02:29 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान विधानसभा चुनाव में तीन सीटों पर जीत दर्ज करने वाली भारत आदिवासी पार्टी अब प्रदेश की तीसरी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। ऐसे में अब बीएपी ने आगामी लोकसभा चुनाव में डूंगरपुर-बांसवाड़ा के साथ ही उदयपुर समेत अन्य कई सीटों पर प्रत्याशी उतारने का निर्णय लिया है। पार्टी प्रमुख व विधायक राजकुमार रोत ने साफ कर दिया है कि बीएपी का कांग्रेस से कोई गठबंधन नहीं है और न ही वो आगे गठबंधन करेंगे। ऐसे में उनकी पार्टी स्वतंत्र चुनाव लड़ेगी।

इंडिया गठबंधन से गठजोड़ की चर्चाओं को सिरे से खारिज

बीएपी विधायक राजकुमार रोत ने पार्टी की कांग्रेस व इंडिया गठबंधन से संभावित गठजोड़ की चर्चाओं को सिरे से खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि इंडिया गठबंधन खुद ही लड़खड़ा रहा है। उनके नेताओ में ही अभी तक सामंजस्य नहीं बैठ पाया है। प्रदेश में भी कांग्रेस और उनके सहयोगी दलों में स्थिति साफ नहीं है। ऐसे में हमारी कांग्रेस के साथ किसी भी तरह का गठबंधन करने की कोई योजना नहीं है।

कांग्रेस की तरफ से कोई प्रस्ताव नहीं आया

यदि कांग्रेस से गठबंधन की बात होती तो विधानसभा चुनाव के दौरान ही हो जाता, लेकिन न तो कांग्रेस की तरफ से कोई प्रस्ताव आया है और न ही हमारा कोई इरादा है। हमारी पार्टी स्वतंत्र रूप से लोकसभा चुनाव लड़ेंगी। विधानसभा चुनाव में क्षेत्र की जनता ने हमारे तीन विधायकों को चुनकर विधानसभा भेजा है। अभी हमारी पार्टी प्रदेश की तीसरी बड़ी पार्टी है। लोकसभा चुनावों में भी हम डूंगरपुर-बांसवाड़ा और उदयपुर की सीट से प्रत्याशी उतारनने की तैयारी कर रहे है।बता दें बीटीपी से अलग होने के बाद बीएपी ने पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ा और तीन सीटों पर जीत दर्ज की। डूंगरपुर जिले की चोरासी सीट से 1 लाख 11 हजार से ज्यादा वोट से राजकुमार रोत चुनाव जीते, जबकि आसपुर सीट से उमेश डामोर विजय हुए। हालांकि, इस सीट पर पहले भाजपा का कब्जा था। प्रतापगढ़ जिले के धरियावाद सीट पर भी बीएपी को कामयाबी मिली। ऐसे में आगामी लोकसभा चुनाव में भाजपा और कांग्रेस के लिए बीएपी बड़ी चुनौती बन सकती है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें