ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News राजस्थानACB के हत्थे चढ़े आईएएस हनुमान मल ढाका हुए एपीओ, जानिए कार्मिक विभाग का आदेश

ACB के हत्थे चढ़े आईएएस हनुमान मल ढाका हुए एपीओ, जानिए कार्मिक विभाग का आदेश

राजस्थान सरकार ने दूदू कलेक्टर हनुमान मल ढाका को एपीओ कर दिया है। देर रात कार्मिक विभाग ने आदेश जारी कर दिए। उन पर रिश्वत लेने का आरोप है। बता दें एसीबी ने आधी रात को उनके आवास पर छापे मारे थे। 

ACB के हत्थे चढ़े आईएएस हनुमान मल ढाका हुए एपीओ, जानिए कार्मिक विभाग का आदेश
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरSun, 28 Apr 2024 07:43 AM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान सरकार ने दूदू कलेक्टर हनुमान मल ढाका को एपीओ कर दिया है। देर रात कार्मिक विभाग ने आदेश जारी कर दिए। उन पर रिश्वत लेने का आरोप है। हाल ही में एसीबी ने आधी रात को उनके आवास पर छापे मारे थे। 

दूदू जिला कलेक्टर और पटवारी के विरुद्ध एसीबी की ओर से भ्रष्टाचार का प्रकरण दर्ज किया गया है। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो मुख्यालय के निर्देश पर जिला कलेक्टर दूदू हनुमान मल ढाका और दूदू पटवारी हंसराज हल्का पटवारी के खिलाफ रिश्वत मांगने के संबंध में शुक्रवार को पीसी एक्ट की धारा में प्रकरण दर्ज किया गया है। प्रकरण दर्ज कर निवास स्थान डाक बंगला दूदू, और तहसील कार्यालय दूदू में तलाशी ली गई।

डीआईजी डॉ रवि ने बताया की ACB में परिवादी ने शिकायत दर्ज कराई कि उसकी फर्म के नाम से 240 बीघा जमीन है, जिसमें से कुछ खसरे तालाब, पाल क्षेत्र में होने के कारण कन्वर्जन करवाए जाने की बात को लेकर कलेक्टर के पास शिकायत थी, जिस पर कार्रवाई नहीं करने की एवज में दूदू कलेक्टर और पटवारी ने रिश्वत की डिमांड की, 25 लाख रु. रिश्वत की डिमांड करते हुए 21 लाख रुपए लेना तय किया, लेकिन परिवादी द्वारा 21 लाख रुपए ज्यादा होना बताने पर 15 लाख रुपए में सौदा तय हुआ। जिसमें 7.5 लाख कलेक्टर द्वारा अपने डाक बंगले पर मंगवाया जाना रिकॉर्डिंग वार्ता में स्पष्ट हुआ। ACB द्वारा प्रारंभिक जांच में दूदू कलेक्टर हनुमान मल ढाका और दूदू हल्का पटवारी हंसराज द्वारा रिश्वत की मांग करने का सत्यापन हुआ, जिस पर कलक्टर, पटवारी के खिलाफ PC एक्ट की धाराओं में प्रकरण दर्ज कर सर्च कार्रवाई की गई।

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के डीआईजी डॉ रवि के निर्देशन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जयपुर नगर सुरेंद्र सिंह के नेतृत्व में सर्च कार्रवाई की गई। जिला कलेक्टर दूदू के निवास स्थान डाक बंगला दूदू और तहसील कार्यालय दूदू पर तलाशी की कार्रवाई की गई। जिला कलेक्टर और पटवारी पर जमीन के कन्वर्जन की एवज में 25 लाख रुपये रिश्वत राशि मांगने का आरोप है। अनुसंधान में प्रारंभिक तौर पर परिवादी की शिकायत जिसमें रिश्वत राशि मांग का सत्यापन का प्रकरण बनना पाया जाने पर न्यायालय भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो जयपुर से सर्च वारंट प्राप्त किया गया, सर्च वारंट प्राप्त कर जिला कलेक्टर दूदू के निवास स्थान डाक बंगला दूदू और तहसील कार्यालय दूदू में तलाशी की कार्रवाई की गई।