ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानभजनलाल के मंत्री मदन दिलावर और किरोड़ी लाल पर गंभीर धाराओं में केस: ADR

भजनलाल के मंत्री मदन दिलावर और किरोड़ी लाल पर गंभीर धाराओं में केस: ADR

राजस्थान की भजनलाल सरकार में 12 मंत्री ऐसे हैं, जिनके खिलाफ कई तरह के मुकदमे दर्ज हैं। हत्या, हत्या के प्रयास और डकैती जैसी गंभीर धाराओं में मामले दर्ज हैं। पांच साल या उससे अधिक की सजा हो सकती है।

भजनलाल के मंत्री मदन दिलावर और किरोड़ी लाल पर गंभीर धाराओं में केस: ADR
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरSun, 18 Feb 2024 12:51 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान की भजनलाल सरकार में 12 मंत्री ऐसे हैं, जिनके खिलाफ कई तरह के मुकदमे दर्ज हैं। हत्या, हत्या के प्रयास और डकैती जैसी गंभीर धाराओं में मामले दर्ज हैं। भजनलाल सरकार में कुल 24 मंत्री हैं, जिनमें से आधे मंत्रिमंडल यानी 24 में से 12 मंत्री ऐसे हैं जिनके खिलाफ अलग-अलग धाराओं में मुकदमा दर्ज हैं। 4 मंत्री तो ऐसे हैं, जिनके खिलाफ गैर जमानती धाराओं में मामले दर्ज हैं। अगर वे दोषी पाए जाते हैं तो पांच साल या अधिक की सजा हो सकती है। एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) ने आपराधिक रिकॉर्ड वाले मंत्रियों की रिपोर्ट जारी की है।

दिलावर पर महिला की गरिमा भंग करने जैसे केस 

प्रदेश सरकार के शिक्षा मंत्री मदन दिलावर के खिलाफ सर्वाधिक मुकदमे दर्ज हैं। सबसे ज्यादा मुकदमे होने के साथ ही सबसे ज्यादा गंभीर धाराओं के मुकदमे भी दिलावर के खिलाफ दर्ज हैं। विधानसभा चुनाव के दौरान दिलावर ने अपने नामांकन पत्र में आपराधिक मुकदमों का हवाला भी दिया। दिलावर के खिलाफ कोटा ग्रामीण के थानों में 4, कोटा शहर के पुलिस थानों में 2, झालावाड़, राजसमंद और जयपुर के अलग अलग थानों में 1-1 मुकदमे दर्ज हैं। दिलावर के खिलाफ दर्ज मुकदमों में राजद्रोह, हत्या, आपराधिक साजिश, राजकार्य में बाधा और महिला की गरिमा भंग करने जैसी धाराओं के मुकदमे भी शामिल हैं। अभी तक किसी भी मामले में उन्हें दोषी नहीं माना गया है। जांच सीआईडी सीबी के पास है। हालांकि, दिलावर कहते रहे है कि गहलोत सरकार ने राजनीतिक षड्यंत्र के तहत केस दर्ज कराए है। 

किरोड़ी लाल पर हत्या के प्रयास का केस 

भजनलाल सरकार में कैबिनेट मंत्री डॉ. किरोड़ी लाल मीणा 12 आपराधिक मुकदमों के साथ दूसरे सर्वाधिक मुकदमों वाले मंत्री हैं। उनके खिलाफ जयपुर ग्रामीण जिले के सामोद और चंदवाजी, अलवर जिले के थानागाजी और रामगढ़, सवाई माधोपुर जिले के सूरवाल, मलारना डूंगर और चौथ का बरवाड़ा, करौली जिले के सपोटरा और जयपुर आयुक्तालय के ज्योति नगर पुलिस थाने में मुकदमा दर्ज हैं। साथ ही जीआरपी अलवर, जीआरपी बांदीकुई और आरपीएफ बांदीकुई थाने में भी मुकदमे दर्ज हैं। कुल 12 आपराधिक प्रकरणों में ज्यादातर मुकदमे राजकार्य में बाधा के हैं, जो डॉ. मीणा की ओर से किए गए विभिन्न आंदोलन में अगुवाई के कारण दर्ज हुए हैं। दो मुकदमे हत्या के प्रयास और एक मुकदमा डकैती जैसी गंभीर धाराओं के भी हैं। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें