ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानभजनलाल सरकार दुष्कर्मियों की संपत्ति पर चलाएगी बुलडोजर, तैयार करा रही है सूची

भजनलाल सरकार दुष्कर्मियों की संपत्ति पर चलाएगी बुलडोजर, तैयार करा रही है सूची

राजस्थान के पंचायती राज और शिक्षामंत्री मदन दिलावर ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा- बालिकाओं, महिलाओं के साथ छेड़छाड़, दुष्कर्म और हत्या करने वाले अपराधियों की संपत्तियों पर बुलडोजर चलाया जाएगा।

भजनलाल सरकार दुष्कर्मियों की संपत्ति पर चलाएगी बुलडोजर, तैयार करा रही है सूची
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरSun, 11 Feb 2024 08:49 AM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान के पंचायती राज और शिक्षामंत्री मदन दिलावर ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि बालिकाओं, महिलाओं के साथ छेड़छाड़, दुष्कर्म और हत्या करने वाले अपराधियों की संपत्तियों पर बुलडोजर चलाया जाएगा। सरकार ने ऐसी संपत्तियों की पहचान करना शुरू कर दिया है। मदन दिलावर ने कहा कि बालिकाओं के साथ अश्लील हरकत करने, छेड़छाड़, दुष्कर्म और दुष्कर्म के बाद हत्या करने वाले आरोपियों की संपत्ति की पहचान की जा रही है। ऐसे आरोपियों ने अवैध तरीके से मकान बनाए होंगे, नियमों का उल्लंघन किया होगा, अतिक्रमण कर के बनाया होगा, उनकी ऐसी सारी संपत्तियों पर बुलडोजर चलाएंगे। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों को हम बर्दाशत नहीं कर सकते. राजस्थान में माता-बहनों का सम्मान सर्वोपरी है। 

सरकारी कार्यालयों में भी अपराध
मंत्री दिलावर ने कहा कि महिलाओं और युवतियों से छेड़छाड़ और दुष्कर्म जैसे अपराध सरकारी कार्यालयों में भी हो रहे। इस तरह के अपराध में से करीब 10% अपराध सरकारी कार्यालयों में हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे कर्मचारियों को भी बख्शा नहीं जाएगा। अपराधियों के मन में डर बैठाना होगा ताकि अपराधी की मां, पत्नी उसे अपराध करने से रोकें।

अधिकारी कार्यालय न छोड़े 

मंत्री दिलावर ने कहा कि सरकारी कार्यालयों में कागज डालकर छुट्टी जाने की प्रक्रिया को बंद करना होगा। उन्होंने कहा कि जब तक लिखित में छुट्टी स्वीकृत न हो तब तक कोई छुट्टी नहीं जाएगा, जो भी कर्मचारी, अधिकारी ऐसा करेंगे उनकी अनुपस्थिति लगाई जाएगी। उन्होंने कहा कि राजपत्रित स्तर के अधिकारी (गजेटेड ऑफिसर) बिना सक्षम अधिकारी की अनुमति के मुख्यालय ना छोड़ें। दिलावर ने कहा कि पहले ये नियम सरकारी अधिकारियों पर लागू करेंगे, उसके बाद कर्मचारियों पर भी लागू किया जाएगा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें