ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News राजस्थानबाड़मेर पुलिस ने 50 हजार का इनामी मादक तस्कर पकड़ा, 4 साल से पैरोल से था फरार

बाड़मेर पुलिस ने 50 हजार का इनामी मादक तस्कर पकड़ा, 4 साल से पैरोल से था फरार

राजस्थान के बाड़मेर जिले की नागाणा थाना पुलिस ने बड़ी सफलता हासिल करते हुए 4 साल से पैरोल से फरार चल रहे को कुख्यात तस्कर ठाकराराम जाट को अरेस्ट किया है। आरोपी चार से फरार चल रहा था।

बाड़मेर पुलिस ने 50 हजार का इनामी मादक तस्कर पकड़ा, 4 साल से पैरोल से था फरार
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरSun, 09 Jun 2024 06:33 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान के बाड़मेर जिले की नागाणा थाना पुलिस ने बड़ी सफलता हासिल करते हुए 4 साल से पैरोल से फरार चल रहे को कुख्यात तस्कर ठाकराराम जाट पुत्र मानाराम (27) निवासी बूठसरा थाना बायतु जिला बालोतरा को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। पुलिस ने इसके पास से तस्करी में प्रयुक्त लग्जरी वाहन फॉर्च्यूनर भी जब्त किया है। राज्य स्तर पर टॉप 25 वांटेड की लिस्ट में शुमार आरोपी की गिरफ्तारी पर 50 हजार का इनाम घोषित है। एसपी नरेंद्र सिंह मीना ने बताया कि साल 2019 को प्रतापगढ़ जिले की छोटी सादड़ी थाना पुलिस ने ठाकरा राम को मादक पदार्थ तस्करी में गिरफ्तार किया था। साल 2020 में जेल से पैरोल पर छूट फरार हो गया। फरारी के दौरान फिर से बड़े स्तर पर मादक पदार्थ की तस्करी में संलिप्त हो गया। इसी दौरान जिले की थाना अनादरा, पचपदरा, बायतु तथा नागाणा पुलिस ने तस्करी करते समय पीछा कर पकड़ने का प्रयास किया।
     
हर बार आरोपी तस्कर ठाकराराम पुलिस टीम पर गाड़ी चढ़ाने का प्रयास कर या फायरिंग कर गाड़ी छोड़ मौके से फरार हो गया। पैरोल से फरार होकर मादक पदार्थ की तस्करी और बार-बार पुलिस पर हमला करने पर आईजी रेंज द्वारा इस पर 50 हजार का इनाम रखा गया, वही 28 मई 2024 को पुलिस मुख्यालय द्वारा इसे टॉप 25 अपराधियों की सूची में शामिल किया गया।

एडीजी क्राइम श्री दिनेश एमएन एवं आईजी रेंज विकास कुमार के निर्देश पर वांछित अपराधियों की धर पकड़ के लिए चलाए जा रहे अभियान के अंतर्गत तस्कर ठाकराराम की गिरफ्तारी के लिए एसपी मीणा के निर्देशन व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जसाराम बोस के सुपरविजन एवं एसएचओ नागाणा जमील खान उपनिरीक्षक (कमांडो) व डीसीआरबी प्रभारी महिपाल सिंह के नेतृत्व में एक विशेष टीम गठित की गई।
        
गठित टीम द्वारा तस्कर ठाकराराम की पृष्ठभूमि को ध्यान में रखते हुए इसके सहयोगियों एवं सभी संभावित स्थानों का एक डेटाबेस तैयार कर निगरानी प्रारंभ की। इसी दौरान टीम के कांस्टेबल भूपेंद्र सिंह को इसके मेवाड़ क्षेत्र में होने की जानकारी मिलने पर प्रभावी कार्रवाई के लिए एक व्यूह रचना रची गई। मुल्जिम का लगातार 500 किलोमीटर पीछा करते हुए टीम निम्बाहेड़ा पहुंची। जहां पता चला कि जावदा गांव में ठाकरा राम अपने सहयोगी मादक पदार्थ सप्लायर तुलसीराम मेनारिया के घर रुका हुआ है।
      
इस सूचना पर स्थानीय पुलिस के सहयोग से तुलसीराम के घर घेरा देकर तस्कर ठाकराराम को दबोच तस्करी में प्रयुक्त लग्जरी फॉर्च्यूनर गाड़ी जप्त की गई। पुलिस की भनक लगते ही साथी तुलसीराम मेनारिया मौके से फरार हो गया, जिसकी तलाश की जा रही है।इस कार्रवाई में कांस्टेबल भूपेंद्र सिंह की विशेष भूमिका रही। नागाणा एसएचओ जमील खान व डीसीआरबी प्रभारी महिपाल सिंह के नेतृत्व में गठित टीम में डीसीआरबी से कांस्टेबल भूपेंद्र सिंह व लुम्भाराम कांस्टेबल कानाराम (कमांडो), संदीप कुमार (कमांडो), थाना नागाणा से कांस्टेबल कंवरा राम तथा थाना निंबाहेड़ा सदर चित्तौड़गढ़ से एएसआई नवल राम वह हेड कांस्टेबल दिलीप शामिल थे।