ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानBajari Rates: राजस्थान में सस्ती मिलेगी बजरी,  इस डेट को होगी ऑनलाइन नीलामी

Bajari Rates: राजस्थान में सस्ती मिलेगी बजरी,  इस डेट को होगी ऑनलाइन नीलामी

राजस्थान में बजरी सस्ती मिलेगी। प्रदेश की भजनलाल सरकार ने 22 नई बजरी खानों की नीलामी पर लगाई रोक हटा ली है। नीलामी 12 से 14 मार्च तक ऑनलाइन होगी। प्रक्रिया जारी हो गई है। लोगों को रात मिलेगी।

Bajari Rates: राजस्थान में सस्ती मिलेगी बजरी,  इस डेट को होगी ऑनलाइन नीलामी
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरSun, 18 Feb 2024 07:32 AM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान में बजरी सस्ती मिलेगी। प्रदेश की भजनलाल सरकार ने 22 नई बजरी खानों की नीलामी पर लगाई रोक हटा ली है। इसके बाद खान विभाग ने बजरी खानों की नीलामी अगले महीने मार्च में करने के लिए तारीख का एलान कर दिया है। नीलामी 12 से 14 मार्च तक ऑनलाइन होगी। नई बिड में बजरी की दर तय होने से आमजन को सस्ती दरों पर बजरी मिल सकेगी। सरकार के इस निर्णय से राजस्व में करीब साढ़े तीन करोड़ की बढ़ोतरी होने के आसार है। उल्लेखनीय है कि राजस्थान की पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार में खानों की नीलामी को स्वीकृति दी गई थी और 7 दिसंबर 2023 को नीलामी की तारीख घोषित कर दी गई थी। इसके बाद राज्य में भाजपा की सरकार बनी तो 16 दिसंबर को नीलामी पर रोक लगा दी थी। बताया जा रहा है कि इन खानों की नीलामी से विभाग को करीब 350 करोड़ रुपए का राजस्व मिल सकता है।

ये बिडिंग 12 मार्च से शुरू होने के आसार 

ब्लॉक भीलवाड़ा, राजसमंद, ब्यावर, टोंक, जालोर के अलावा नागौर जिले में आवंटित किए जाएंगे। जो बनास नदी के अलावा लूनी नदी में होंगे। सरकार ने बिड में जो शर्ते निर्धारित की है, उसे देखकर उम्मीद जताई जा रही है कि इस बार लोगों को बजरी बहुत सस्ती दर पर उपलब्ध हो सकती है।सूत्रों के अनुसार ये बिडिंग 12 मार्च से शुरू की जाएगी, जो 14 मार्च तक चलेगी। ये लीज 5 साल के लिए दी जाएगी। बता दें कि राजस्थान में अभी वर्तमान में 45 लीज संचालित है, जिनमें से 25 से ज्यादा लीज का समय मार्च 2024 में खत्म हो जाएगा।

5 साल तक के लिए होगी नीलामी

बजरी खानें भीलवाड़ा, राजसमंद, ब्यावर, टोंक, जालौर और नागौर जिले में चिन्हित की गई हैं। जो बनास व लूनी नदी पेटे में 34 से 100 हैक्टेयर तक की हैं। इन खानों की नीलामी 5 साल के लिए की जाएगी। प्रदेश में वर्तमान में करीब 40 खानें चल रही हैं। इनमें से कई की अवधि अगले माह मार्च में ही खत्म हो रही है। नई खानों की नीलामी बिड में शर्त रखी गई है कि रॉयल्टी की चार गुना राशि से ज्यादा दर पर लीज होल्डर बजरी नहीं बेच सकेंगे। इससे बजरी सस्ती मिलने की उम्मीद जताई जा रही है।

उल्लेखनीय है कि बजरी खनन के 22 ब्लॉक में लीज जारी करने के लिए ऑनलाइन बिड को भजनलाल सरकार ने शपथ लेने के बाद अगले ही दिन रोक दिया था। अब 2 महीने बाद उसी टेंडर प्रक्रिया को फिर से उन्हीं शर्तों पर शुरू करने की अनुमति जारी की है। इस टेंडर प्रक्रिया में राजस्थान में अलग-अलग जगह 22 बड़े ब्लॉक में बजरी खनन की लीज जारी करने के लिए ऑनलाइन बिड मांगी जाएगी। 34 हैक्टेयर से लेकर 100 हैक्टेयर जमीन तक की लीज जारी की जाएगी। राज्य सरकार को इस ऑक्शन से 300 करोड़ रुपए से ज्यादा का रेवेन्यू मिलने की उम्मीद है। जबकि आमजन को 40 टन के एक ट्रक पर करीब 15 हजार रुपए का फायदा हो सकता है।


 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें