ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ राजस्थानसचिन पायलट पर बदले अशोक गहलोत के सुर, राहुल गांधी ने कहा दिया धरोहर हैं तो अब चर्चा नहीं

सचिन पायलट पर बदले अशोक गहलोत के सुर, राहुल गांधी ने कहा दिया धरोहर हैं तो अब चर्चा नहीं

अशोक गहलोत ने कुछ दिन पहले सचिन पायलट को गद्दार कह दिया था। गहलोत के इस बयान से कांग्रेस की खूब किरकिरी हुई थी। भारतीय जनता पार्टी समेत तमाम राजनीतिक दलों ने जमकर कांग्रेस पर निशाना साधा था।

सचिन पायलट पर बदले अशोक गहलोत के सुर, राहुल गांधी ने कहा दिया धरोहर हैं तो अब चर्चा नहीं
Devesh Mishraलाइव हिंदुस्तान,जयपुरTue, 29 Nov 2022 05:07 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कुछ दिनों पहले सचिन पायलट को गद्दार कह दिया था। गहलोत के इस बयान से कांग्रेस की खूब किरकिरी हुई थी। भारतीय जनता पार्टी समेत तमाम राजनीतिक दलों ने जमकर कांग्रेस पर निशाना साधा था। गहलोत ने सचिन पायलट को गद्दार कहते हुए कहा था कि वो पायलट को कभी भी मुख्यमंत्री स्वीकार नहीं कर सकते। गहलोत के इस बयान पर राहुल गांधी ने कहा था कि दोनों (गहलोत और पायलट) कांग्रेस की धरोहर हैं। 

गहलोत के बदले सुर
अब इस मामले को लेकर अशोक गहलोत के सुर कुछ बदले-बदले से नजर आ रहे हैं। पत्रकारों ने गहलोत से पूछा कि राहुल गांधी ने आपको और पायलट को कांग्रेस पार्टी का एसेट (धरोहर) बताया है, इसपर क्या कहना है आपका? गहलोत ने जवाब दिया कि राहुल गांधी हम सब के नेता हैं। जब राहुल गांधी ने कहा है कि एसेट हैं तो एसेट हैं। गहलोत ने कहा कि कांग्रेस पार्टी की खूबी यही है कि पार्टी का नंबर 1 नेता और कांग्रेस अध्यक्ष के अनुशासन में पार्टी चलती है...जब राहुल गांधी ने कह दिया कि हम सब एसेट हैं तो हम सब एसेट ही हैं।

हर कार्यकर्ता एसेट है
अशोक गहलोत ने कहा कि कांग्रेस पार्टी का हर कार्यकर्ता एसेट है। गहलोत ने कहा कि अगला चुनाव जीतना मुख्य मुद्दा है। माहौल इस बार हमारे पक्ष में है। गहलोत ने बताया कि जैसी योजनाओं हमने बनाई है ऐसी योजनाएं और कहीं नहीं है। गहलोत ने कहा कि जब मैं किसी गांव में दौरा करने जाता हूं तो लोगों को सपोर्ट मिलता है। लोग सड़कों पर आकर हमसे मिलते हैं, हाथ मिलाते हैं।

क्या है पूरा मामला?
कुछ दिनों पहले राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने कांग्रेस नेता सचिन पायलट को गद्दार कह दिया था। गहलोत के इस आक्रामक तेवर से कांग्रेस में उठापटक की पूरी संभावना बन गई थी। हालांकि सचिन पायलट ने इसे लेकर कहा था कि अशोक गहलोत ने मुझे नाकारा और गद्दार कहा…ये सब मुझपर निराधार आरोप हैं। सचिन पायलट ने कहा कि ये सब एक आधारहीन आरोप है।

राजस्थान में कांग्रेस की सरकार को चार साल हो गए हैं। ऐसा बताया जाता है कि सचिन पायलट सीएम बनने की चाह रखते थे लेकिन कांग्रेस आलाकमान ने गहलोत को सीएम बनाया। पायलट के समर्थक चाहते हैं कि गहलोत की जगह पायलट को सीएम बनाया जाए। कांग्रेस पार्टी के एक गुर्जर नेता ने यहां तक कह दिया कि अगर पायलट को सीएम नहीं बनाया गया तो वो राज्य में राहुल गांधी की अगुवाई में आ रही भारत जोड़ो यात्रा का विरोध करेंगे। गहलोत और पायलट के बीच बढ़ते मनमुटाव को देखते हुए राहुल गांधी ने दोनों नेताओं को कांग्रेस की धरोहर बताई थी। राहुल के बयान के बाद गहलोत के सुर सचिन पायलट को लेकर अब बदले-बदले से नजर आ रहे हैं।