ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News राजस्थानप्रशांत किशोर की भविष्यवाणी पर अशोक गहलोत हुए हमलावर, ऐसा रहा रिएक्शन

प्रशांत किशोर की भविष्यवाणी पर अशोक गहलोत हुए हमलावर, ऐसा रहा रिएक्शन

राजनीतिक विश्लेषक प्रशांत किशोर की भविष्यावाणी पर राजस्थान के पूर्व सीएम अशोक गहलोत ने एक्स पर लिखा, 'चुनाव में मतदाताओं का मूड भांपने के बाद बीजेपी पूरी तरह से हताश हो चुकी है। बयान दिलाए जा रहे हैं।

प्रशांत किशोर की भविष्यवाणी पर अशोक गहलोत हुए हमलावर, ऐसा रहा रिएक्शन
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरFri, 24 May 2024 10:57 AM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान के पूर्व सीएम अशोक गहलोत ने एक्स पर लिखा, 'चुनाव में मतदाताओं का मूड भांपने के बाद बीजेपी अब पूरी तरह से हताश हो चुकी है। बीजेपी ने अपने सभी नेताओं और समर्थकों को निर्देश दिया है कि जिस भाषा में वे बीजेपी की प्रचंड बहुमत से जीत का दावा करते हैं उसी भाषा का इस्तेमाल करें और बीजेपी के पक्ष में जनता में भ्रम पैदा करें। यही कारण है कि अचानक ही तमाम राजनीतिक विश्लेषकों, अर्थशास्त्रियों और पत्रकारों समेत तमाम लोगों की भविष्यवाणियों की बाढ़ आ गई है।प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता अशोक गहलोत ने पीके की भविष्यवाणी पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। बता दें प्रशांत किशोन ने हाल ही में कहा था-  400 पार और 370 का नारा बस बीजेपी का चुनावी गेम है। विपक्ष इसको समझ नहीं पाया और बुरी तरह उलझ कर रह गया। उनका कहना है कि एनडीए साल 2019 की तरह 303 के स्कोर पर या फिर उससे भी अच्छे नंबरों के साथ पास हो जाएगी

'बीजेपी को 15 से 20 सीटों का फायदा'

इंटरव्यू के दौरान प्रशांत किशोर ने कहा था कि उत्तर और पश्चिम में करीब 325 लोकसभा सीटें हैं। यह क्षेत्र 2014 से बीजेपी का गढ़ रहा है। मौजूदा लोकसभा चुनाव में भी पश्चिम और उत्तर में बीजेपी को कोई खास नुकसान होता नहीं दिख रहा है। पूर्व और दक्षिण में, जहां करीब 225 सीटें हैं. वर्तमान में बीजेपी के पास इन राज्यों में 50 से कम सीटें हैं। पहले भले ही बीजेपी का प्रदर्शन इन जगहों पर अच्छा नहीं रहा हो, लेकिन इस चुनाव ओडिशा, तेलंगाना, बिहार, आंध्र, बंगाल, असम, तमिलनाडु, केरल  जैसे दक्षिण-पूर्वी राज्यों में बीजेपी की सीटें घटने की बजाय बढ़ेंगी। यहां पर पार्टी कुल सीटों में 15-20 सीटों का फायदा होता दिख रहा है। 

प्रशांत किशोर के भविष्यवाणी करते हुए कहा था कि मोदी सरकार सत्ता में वापसी करेगी. उनके मुताबिक देश में मोदी विरोध लहर देखने को नहीं मिल रही है। मोदी के नाम पर बीजेपी इस चुनाव को जीतने जा रही है। पीके के मुताबिक 400 पार और 370 का नारा बस बीजेपी का चुनावी गेम है। विपक्ष इसको समझ नहीं पाया और बुरी तरह उलझ कर रह गया। उनका कहना है कि एनडीए साल 2019 की तरह 303 के स्कोर पर या फिर उससे भी अच्छे नंबरों के साथ पास हो जाएगी।