ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ राजस्थानतो सारे विधायक इस्तीफा दे देंगे, दिल्ली में मीटिंग के बीच अशोक गहलोत गुट के मंत्री की धमकी

तो सारे विधायक इस्तीफा दे देंगे, दिल्ली में मीटिंग के बीच अशोक गहलोत गुट के मंत्री की धमकी

अशोक गहलोत गुट के विधायक गोविंद राम मेघवाल ने अब धमकी दी है कि यदि दूसरे गुट के नेता को सीएम बनाया गया तो हम सभी विधायक इस्तीफा दे देंगे। उनकी इस धमकी से एक बार फिर से हलचल तेज हो गई है।

तो सारे विधायक इस्तीफा दे देंगे, दिल्ली में मीटिंग के बीच अशोक गहलोत गुट के मंत्री की धमकी
Surya Prakashलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 29 Sep 2022 01:55 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान में कांग्रेस हाईकमान संकट को खत्म करने के लिए जितने प्रयास कर रहा है, उतनी ही समस्याएं बढ़ती दिख रही हैं। एक तरफ सोनिया गांधी से दिल्ली में अशोक गहलोत की मीटिंग चल रही है तो वहीं जयपुर में हलचल तेज हो गई है। अशोक गहलोत गुट के विधायक गोविंद राम मेघवाल ने अब धमकी दी है कि यदि दूसरे गुट के नेता को सीएम बनाया गया तो हम सभी विधायक इस्तीफा दे देंगे। उन्होंने इशारों में सचिन पायलट पर हमला बोलते हुए कहा कि ऐसा पहली बार हुआ था, जब पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रहे शख्स ने दूसरे दल के साथ मिलकर सरकार बनाने की कोशिश की थी।

दिग्विजय को मौका, गहलोत को 'धोखा', सोनिया गांधी से मिलने को भी तरसे

गोविंद राम मेघवाल ने कहा अशोक गहलोत के अलावा किसी और गुट के विधायक को सीएम बनाया गया तो हम सभी इस्तीफा दे दें। मेघवाल ने कहा कि हम लोग मध्यावधि चुनाव के लिए भी तैयार हैं। मेघवाल के बयान को हाईकमान पर दबाव की रणनीति के तौर पर देखा जा रहा है। बता दें कि रविवार को अलग से विधायकों की मीटिंग बुलाए जाने के बाद से हाईकमान और अशोक गहलोत के बीच तनाव की स्थिति है। यहां तक कि अशोक गहलोत बुधवार से सोनिया गांधी से मिलने का प्रयास कर रहे हैं, लेकिन अब जाकर उन्हें मुलाकात का मौका मिला है।

अशोक गहलोत के बाद सचिन पायलट भी सोनिया गांधी से मुलाकात करने वाले हैं। इसके बाद आज शाम तक कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव में अशोक गहलोत की उम्मीदवारी और राजस्थान में सीएम पद को लेकर अहम फैसला हो सकता है। गौरतलब है कि रविवार को अशोक गहलोत समर्थक 82 विधायकों ने राज्यपाल को इस्तीफा दे दिया था और कहा था कि यदि सचिन पायलट सीएम बनते हैं तो हमें यह मंजूर नहीं होगा। गौरतलब है कि कांग्रेस हाईकमान की रणनीति य़ह थी कि अशोक गहलोत राष्ट्रीय अध्यक्ष बन जाएं और राजस्थान में किसे सीएम चुनना है, इसका फैसला सोनिया गांधी के ऊपर छोड़ दें।

epaper