DA Image
9 अगस्त, 2020|8:59|IST

अगली स्टोरी

पीएम मोदी को पत्र लिखा ताकि वे ये ना कह सकें कि मुझे मामले की जानकारी नहीं थी: अशोक गहलोत

rajasthan cm ashok gehlot   ani twitter 23 july  2020

राजस्थान में जारी सियासी घमासान के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को प्रदेश के वर्तमान संकट को लेकर पत्र लिखने पर सफाई देते हुए कहा कि ऐसा उन्होंने इसलिए किया ताकि कल को वे ये ना कह दें कि मुझे इसकी जानकारी ही नहीं थी। दरअसल गहलोत ने बुधवार (22 जुलाई) को पीएम मोदी को एक पत्र लिखकर उन्हें प्रदेश के राजनीतिक हालात से अवगत कराया है।

गहलोत ने गुरुवार (23 जुलाई) को कहा, "प्रधानमंत्री जी को मैंने पत्र लिखा है क्योंकि कल को प्रधानमंत्री जी ये न कह दें कि मुझे जानकारी नहीं थी या मुझे मेरे लोगों द्वारा अधूरी जानकारी दी गई। ताकि कभी मैं उनसे मिलूं तो मुझे ये न कहें कि ये बात तो मुझे मालुम ही नहीं थी।"

इसके आगे गहलोत ने कहा कि अगर केंद्र को राजस्थान सरकार पर यकीन नहीं है, तो वे ऑडियो टेप की आवाज को जांच के लिए अमेरिका भेज सकते हैं। उन्होंने कहा, "अगर वे लोग राजस्थान की सरकार पर भरोसा नहीं करते हैं, तो वे ऑडियो टेप की आवाज को जांच के लिए अमेरिका की एफएसएल एजेंसी भेज सकते हैं। केंद्रीय मंत्री, विधायक, सांसद सभी भाषण देते हैं, इसलिए हर कोई जानता है कि यह उन्हीं की आवाज है।"

 

दूसरी ओर, उच्चतम न्यायालय ने राजस्थान के बर्खास्त उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट सहित कांग्रेस के 19 बागी विधायकों की याचिका पर अपना आदेश सुनाने की राज्य के उच्च न्यायालय को बृहस्पतिवार को अनुमति दे दी, लेकिन साथ ही यह भी कहा कि उसकी व्यवस्था विधानसभा अध्यक्ष द्वारा शीर्ष अदालत में दायर याचिका पर आने वाले निर्णय के दायरे में होगी।

हालांकि, इस मामले में राजस्थान विधानसभा के अध्यक्ष सी पी जोशी अपनी उन दलीलों पर शीर्ष अदालत से किसी भी प्रकार की अंतरिम राहत पाने में विफल रहे जिसमें कहा गया था कि संविधान की 10वीं अनुसूची के अंतर्गत उनके द्वारा की जा रही अयोग्यता की कार्यवाही से उच्च न्यायालय उन्हें रोक नहीं सकता।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Ashok Gehlot Letter To PM Narendra Modi Over Rajasthan Crisis