ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानगहलोत ने पायलट संग तस्वीर दिखा क्या लिखा, जिसकी खूब हो रही है चर्चा; वोटिंग से पहले बड़ा संदेश

गहलोत ने पायलट संग तस्वीर दिखा क्या लिखा, जिसकी खूब हो रही है चर्चा; वोटिंग से पहले बड़ा संदेश

Gehlot and Pilot: राजस्थान में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान से ठीक 10 दिन पहले एक बार फिर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उनके पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट के संबंधों की खूब चर्चा हो रही है।

गहलोत ने पायलट संग तस्वीर दिखा क्या लिखा, जिसकी खूब हो रही है चर्चा; वोटिंग से पहले बड़ा संदेश
Sudhir Jhaलाइव हिन्दुस्तान,जयपुरWed, 15 Nov 2023 03:19 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान से ठीक 10 दिन पहले एक बार फिर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उनके पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट के संबंधों की खूब चर्चा हो रही है। हालांकि, 5 साल तक दोनों के बीच घमासान देख चुकी कांग्रेस पार्टी के लिए इस बार टेंशन नहीं राहत की बात है। ना सिर्फ दोनों नेताओं में आमने-सामने बैठकर बातचीत हुई बल्कि कभी पायलट को 'निकम्मा और गद्दार' तक कह चुके गहलोत ने अब पायलट के साथ होने का संदेश दिया है। सोशल मीडिया एक्स पर गहलोत ने एकजुटता दिखाते हुए जीत का विश्वास जाहिर किया है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जिस तस्वीर को साझा किया है उसमें उनके सामने सचिन पायलट बैठे हैं। सचिन कुछ बात कहते दिख रहे हैं और गहलोत के अलावा पार्टी महासचिव केसी वेणुगोपाल समेत अन्य नेता ध्यान से उन्हें सुन रहे हैं। गहलोत ने खुद अपने आधाकारिक अकाउंट से फोटो शेयर करते हुए लिखा, 'एक साथ। जीत रहे हैं फिर से।' उन्होंने पोस्ट के साथ हैशटैग कांग्रेस_फिर_से इस्तेमाल किया। माना जा रहा है कि गहलोत ने चुनाव से पहले यह संदेश देने की कोशिश की है कि पायलट और उनके बीच अब सबकुछ ठीक है।

नैरेटिव बदलने की कोशिश
राजस्थान में 'कमान' को लेकर गहलोत और पायलट के बीच पिछले विधानसभा चुनाव के बाद से ही टकराव रहा है। 2020 में जहां पायलट कुछ समर्थक विधायकों के साथ बगावत पर उतर आए तो गहलोत ने उन्हें पूरी तरह किनारे लगा दिया। दोनों नेताओं के बीच वार-पलटवार आम हो गया था। एक दूसरे को कोसने का कोई मौका नहीं छोड़ा गया। भाजपा ने भी दोनों के बीच टकराव का फायदा उठाने की पूरी कोशिश की है। चुनाव से ठीक पहले भले ही कांग्रेस आलाकमान ने दोनों नेताओं के बीच सुलह करा दी, लेकिन भाजपा वोटर्स को यह संदेश देने में जुटी है कि यदि कांग्रेस को जीत मिली तो एक बार फिर गहलोत और पायलट सत्ता के लिए आपस में ही उलझते रहेंगे। ऐसे में गहलोत की तस्वीर को 'इमेज' बदलने की कोशिश का हिस्सा माना जा रहा है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें