ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News राजस्थानक्या अपनी सरकार से नाराज है बीजेपी विधायक? जयपुर में निकाल रहे हैं रैली

क्या अपनी सरकार से नाराज है बीजेपी विधायक? जयपुर में निकाल रहे हैं रैली

राजस्थान के जयपुर में हिंदुओं के पलायन का मामला गर्माया हुआ है। बीजेपी विधायकों ने अपनी ही सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। बीजेपी विधायक गोपाल शर्मा ने जयपुर में रैली निकालकर विरोध जताया है।

क्या अपनी सरकार से नाराज है बीजेपी विधायक? जयपुर में निकाल रहे हैं रैली
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरSun, 16 Jun 2024 09:29 AM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान के जयपुर में हिंदुओं के पलायन का मामला गर्माया हुआ है। बीजेपी विधायकों ने अपनी ही सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। बीजेपी विधायक गोपाल शर्मा के बाद आज हवामहल विधायक बालमुकानंदाचार्य महाराज जन जागरुकता रैली निकालेंगे। इससे पहले मंत्री किरोड़ी लाल ने मुख्यमंत्री का सिरदर्द बढ़ा दिया। शनिवार को शास्त्री नगर इलाके के भट्टा बस्ती कॉलनी में हिंदुओं के पलायन करने का आरोप लगाते हुए भाजपा के विधायक गोपाल शर्मा अपनी ही सरकार के खिलाफ सड़क पर उतरे। गोपाल शर्मा ने आरोप लगाया कि कांग्रेस के तुष्टीकरण की वजह से महिलाओं की पूजा की थाली में थूका जा रहा है। हालांकि, गोपाल शर्मा ने सीधे तौर पर कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया है। 

 सियासी जानकारों का कहना है कि राज्य एंव केंद्र में बीजेपी की सरकार है। ऐसे में बीजेपी अपनी जिम्मेदारी से नहीं बच सकती है। बीजेपी के विधायक भजनलाल सरकार पर दबाव बनाने के लिए यह कर रहे है। सियासी जानकारों का कहना है कि कानून व्यवस्था राज्य सरकार का विषय है। ऐे में बीजेपी विधायक विपक्ष को जिम्मेदार नहीं ठहरा सकते है। राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि  बीजेपी विधायकों की रैली निकालने के पीछे मंशा सीएम भजनलाल सरकार पर दबाव बनाने की हो सकती है। गोपाल शर्मा का कहना है कि पाकिस्तान जिंदाबाद के बाद नारे लग रहे हैं, लेकिन अब राज बदल गया है। अब हम ये सब नहीं चलने देंगे। मामले को तूल पकड़ता देख विधायक गोपाल शर्मा ने शास्त्रीनगर में मीटिंग की।सगोपाल शर्मा ने कहा कि भारत को पाकिस्तान नहीं बनने दिया जाएगा। कांग्रेस की तुष्टीकरण की नीति के चलते ये हालत पैदा हुए हैं। 

इससे पहले कृषि मंत्री किरोड़ी लाल मीणा के इस्तीफे को लेकर बीजेपी के नेता बोलने से बच रहे है। किरोड़ी लाल ने अपना सरकारी वाहन लौटा दिया है। सचिवालय भी जाना बंद कर दिया है। किरोड़ीलाल मीणा इस्तीफे के सवाल पर चुप्पी साधे हुए है। दूसरी तरफ किरोड़ी लाल ने सरकारी गाड़ी लौटा दी है और सचिवालय जाना भी बंद कर दिया है। बता दें किरोड़ी के इस्तीफे संशय बना हुआ है। शनिवार को सिरोही के माउंट आबू पहुंचे, जहां पार्टी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने उनका भव्य स्वागत किया। इस मौके पर जब मीडिया ने उनसे इस्तीफे को लेकर सवाल किया तो वो खामोश हो गए। साथ ही मुंह पर उंगली रख ली।

दरअसल, कृषि मंत्री किरोड़ीलाल मीणा ने सरकारी कामों से दूरी बना रखी है। यहां तक कि वो सचिवालय और कृषि भवन भी नहीं जा रहे हैं और न ही सरकारी वाहनों का इस्तेमाल कर रहे हैं। यही वजह है कि उनके इस्तीफे की अटकलें तेज हो गई हैं। इस बीच शनिवार को किरड़ीलाल मीणा निजी वाहन से माउंट आबू पहुंचे।