ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानअलवर बीफ मंडी मामले में पुलिस का शिकंजा, 22 नामजद आरोपी गिरफ्तार; इस दिन होगी पेशी

अलवर बीफ मंडी मामले में पुलिस का शिकंजा, 22 नामजद आरोपी गिरफ्तार; इस दिन होगी पेशी

राजस्थान के अलवर में गोकशी और बीफ मंडी मामले में पुलिस का शिकंजा कस गया है। बुलडोजर और ट्रैक्टर ऐक्शन के बाद पुलिस ने 22 नामजद आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

अलवर बीफ मंडी मामले में पुलिस का शिकंजा, 22 नामजद आरोपी गिरफ्तार; इस दिन होगी पेशी
Abhishek Mishraलाइव हिन्दुस्तान,अलवरTue, 27 Feb 2024 12:49 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान के अलवर में गोकशी और बीफ मंडी मामले में पुलिस का शिकंजा कस गया है। बुलडोजर और ट्रैक्टर ऐक्शन के बाद पुलिस ने 22 नामजद आरोपियों को गिरफ्तार किया है। मामले में 30 से अधिक लोगों पर गोकशी में शामिल होने, बीफ की होम डिलीवरी और माहौल खराब करने का आरोप है। गिरफ्तार आरोपियों को कोर्ट में पेश किया जाएगा।

अलवर के किशनगढ़ बास में बीफ की मंडी लगने के मामले में पुलिस के हाथ बड़ी कामयाबी लगी है। किशनगढ़ बास के डीएसपी सुरेश कुड़ी ने बताया कि किशनगढ़ बास में गोकशी कर बीफ की मंडी लगाने के आरोप में 22 लोगों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज की गई थी। जिस पर पुलिस ने कार्यवाही करते हुए पहले 5 लोगों को उसके बाद 4 लोगों को गिरफ्तार किया था। जबकि बचे हुए अन्य आरोपियों को मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया गया है। पकड़े गए लोगों को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा ताकि पूरे मामले में और कौन-कौन लोग शामिल थे इसका खुलासा हो सके।

गौरतलब हो, मामला सुर्खियों में आने के बाद जयपुर रेंज आईजी के द्वारा किशनगढ़ बास थाने को लाइन हाजिर कर दिया था जबकि इस मामले में संलिप्त 4 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया था। इस पूरे मामले में कई आरोपियों पर अलग अलग धाराओं में कई मामले दर्ज है। साथ ही पकड़े गए कई आरोपी पिछले कई महीनों से फरार चल रहे थे। इनपर पुलिस के द्वारा इनाम भी घोषित था।

गोकशी करने के मामले में आरोपियों को अवैध विद्युत कनेक्शन देने वाले एईएन को सस्पेंड कर दिया गया था। प्रशासन के द्वारा आरोपियों के अवैध कब्जे से सैकड़ों बीघा जमीन को मुक्त कराया गया है। वहीं सरकार के द्वारा अस्थायी पुलिस चौकी भी ब्रसंगपूर गांव में खोली गई है। ताकि अपराध पर लगाम लग सके। आपको बता दें कि गोकशी कर बीफ बेचने वालों ने सैकड़ों बीघा जमीन पर कब्जा कर फसल बोना शुरू कर दिया था।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें