ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News राजस्थानAjmer Fraud Case: अजमेर में कार्यरत जज को युवती ने हनी ट्रैप में फंसाया, ऐसे हुआ खुलासा

Ajmer Fraud Case: अजमेर में कार्यरत जज को युवती ने हनी ट्रैप में फंसाया, ऐसे हुआ खुलासा

राजस्थान के अजमेर सिविल लाइन थाने में एक जज ने एक युवती पर हनी ट्रैप में उसे फंसाने का मामला दर्ज करवाया है। जज का आरोप है कि युवती ने उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए। 7 के खिसाफ केस दर्ज।

Ajmer Fraud Case: अजमेर में कार्यरत जज को युवती ने हनी ट्रैप में फंसाया, ऐसे हुआ खुलासा
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरMon, 17 Jun 2024 07:22 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान के अजमेर सिविल लाइन थाने में एक जज ने एक युवती पर हनी ट्रैप में उसे फंसाने का मामला दर्ज करवाया है। जज का आरोप है कि युवती ने उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए और अश्लील वीडियो और फोटो ले लिए। इसके आधार पर वह उसे ब्लैकमेल कर 50 लाख रुपये की डिमांड कर रही है। साथ ही जज का आरोप है कि युवती उसके भाई को राजस्थान लोक सेवा आयोग की एईएन परीक्षा के साक्षात्कार में पास करवाने के लिए सिफारिश करने का भी दबाव बना रही है। इस मामले को लेकर सिविल लाइन थाना प्रभारी छोटेलाल ने बताया कि ब्लैकमेल कर रुपये हड़पने, जान से मारने की धमकी देने समेत कई आरोप में युवती समेत 7 लोगों के खिलाफ जज ने मुकदमा दर्ज करवाया है। मामले की जांच की जा रही है। 

पीड़ित जज ने अपनी रिपोर्ट में पुलिस को बताया कि युवती ने 2024 में अपने भाई को राजस्थान लोक सेवा आयोग के एईएन के लिए साक्षात्कार में सिफारिश करके पास करने का भी दबाव बनाया। साथ ही साक्षात्कार में यदि पैसा देना पड़े तो वह पैसे भी भरने के लिए कहा। पीड़ित जज ने पुलिस को यह भी बताया कि कोर्ट में होने के दौरान युवती अश्लील वीडियो और फोटो भेज कर मानसिक रूप से उसे प्रताड़ित करती थी। उन्होंने पुलिस को बताया कि युवती अपने मतलब के मैसेज रखती थी, लेकिन धमकी वाले मैसेज वह तुरंत डिलीट कर देती थी। पीड़ित जज ने पुलिस को बताया कि पिता की फैक्ट्री के लिए युवती ने उससे 80 हजार लिए थे। जयपुर में फ्लैट दिलाने के लिए वह 50 लाख रुपये की डिमांड कर रही थी।

जज ने सिविल लाइन थाने में दी गई रिपोर्ट में बताया कि वह अजमेर में कार्यरत है। उसे हनी ट्रैप में फंसने वाली युवती गंगानगर जिले में एलडीसी है। सिविल लाइन थाने में जज ने युवती समेत 7 जनों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज करवाया है। जज ने पुलिस को बताया कि 2019 में एक युवती ने उसे फोन पर संपर्क किया था। जब वह आरजेएस की तैयारी कर रहा था। युवती ने खुद को भी आरजेएस अभ्यर्थी बताया और नोट्स लेने के बहाने रूम में आ गई। कुछ दिनों बाद जब वह इंटरव्यू की तैयारी कर रहा था, तब भी युवती उसके रूम में आई। युवती ने उसपर फिजिकल रिलेशन का दबाव डाला और कहा कि यदि मेरा कहा नहीं माना तो लोगों को चिल्लाकर जमा कर लूंगी।

शारीरिक संबंध बनाते समय युवती ने कई आपत्तिजनक फोटो भी लिए। इसके बाद युवती उसे ब्लैकमेल करने लगी। जज ने पुलिस को दी रिपोर्ट में आरोप लगाया कि जिस दिन युवती ने शारीरिक संबंध बनाए थे, उस शाम को ही फोन करके धमकी दी कि आरजेएस में सिलेक्शन हो गया तो तुझे मुझसे शादी करनी होगी, नहीं तो तुम पर बलात्कार के केस लगा दूंगी। पीड़ित जज का यह भी आरोप है कि इस दिन के बाद से ही वह उसे रोज ब्लैकमेल कर पैसों की डिमांड करने लगी। आरोपी युवती महंगे मोबाइल फोन, मेकअप, रूम रेंट और ब्रांडेड कपड़े के नाम पर उससे पैसे लेती रही।

पीड़ित जज ने पुलिस को बताया कि जब उसने युवती की नाजायज मांगों का विरोध किया तो युवती ने अपने जीजा को फोन पर बात करवाई और शादी का दबाव बनाया। जज का यह भी आरोप है कि 2021 में दिवाली तक युवती उसे ब्लैकमेल कर साढ़े तीन लाख रुपये ले चुकी है। पीड़ित जज ने पुलिस को बताया कि युवती मोबाइल रिकॉर्डिंग और चैट के स्क्रीनशॉट भी रखती थी। उसी के आधार पर आगे अपने परिवार के साथ मिलकर ब्लैकमेल करने लगी। जज ने सिविल लाइन थाना पुलिस को बताया कि युवती ने पेपरलीक गिरोह से जान पहचान होने की धमकी दी और कहा कि तुझे और परिवार वालों को जान से मरवा दूंगी। 
 

Advertisement