ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानAjmer-Delhi Highway: हाईवे पर केमिकल के कारोबार का भंडाफोड़, चोरी के तरीके से पुलिस भी हैरान

Ajmer-Delhi Highway: हाईवे पर केमिकल के कारोबार का भंडाफोड़, चोरी के तरीके से पुलिस भी हैरान

राजस्थान एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स पुलिस मुख्यालय की टीम ने थाना मनोहरपुर इलाके में दिल्ली- अजमेर हाईवे पर पर केमिकल के अवैध कारोबार का भंडाफोड़ किया। चोरी के तरीके से पुलिस भी हैरान। सरगना गिरफ्तार।

Ajmer-Delhi Highway: हाईवे पर केमिकल के कारोबार का भंडाफोड़, चोरी के तरीके से पुलिस भी हैरान
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरSat, 24 Feb 2024 06:21 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स पुलिस मुख्यालय की टीम ने थाना मनोहरपुर इलाके में दिल्ली- अजमेर हाईवे पर स्थित नवलपुरा गांव में गोदाम में हो रहे अत्यंत ज्वलनशील केमिकल के अवैध कारोबार का भंडाफोड़ किया है। टीम ने गिरोह के सरगना और दो अन्य साथियों को गिरफ्तार कर 60 लाख रुपये कीमत का ज्वलनशील पदार्थ/ केमिकल, 1.25 लाख नगद, तीन वाहन एवं चोरी में प्रयुक्त उपकरण जप्त किए हैं। अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स दिनेश एमएन ने बताया कि आईजी प्रफुल्ल कुमार की पर्यवेक्षण एवं एजीटीएफ के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विद्या प्रकाश के सुपरविजन में गठित टीम प्रभारी एएसआई बनवारी लाल शर्मा को मनोहरपुर थाना अंतर्गत नवलपुरा गांव में स्थित गोदाम पर ड्राइवर से सांठ गांठ कर टैंकरों से केमिकल चोरी किये जाने की सूचना मिली थी। 

 दो दिन निगरानी कर दी दबिश 

एडीजी श्री एमएन ने बताया कि सूचना की पुष्टि के लिए एएसआई बनवारी लाल शर्मा के नेतृत्व में हेड कांस्टेबल सुरेश कुमार, सोहन सिंह व कांस्टेबल जितेंद्र कुमार की टीम गठित कर आसूचना संकलन के लिए भेजी गई। टीम ने दो दिन लगातार गोदाम की रैकी की। इस दौरान करीब 25-26 टैंकर गोदाम में आते-जाते दिखाई दिए। सूचना की पुष्टि होने के बाद थाना पुलिस के सहयोग से गोदाम में दबिश दी गई।

सीएनजी एवं पेट्रोल पंप के बीच स्थित है गोदाम

मनोहरपुर थाना इलाके के नवलपुर गांव में दिल्ली अजमेर एक्सप्रेस हाईवे पर स्थित यह गोदाम सीएनजी एवं पेट्रोल पंप के बीच स्थित है। टैंकरों से अत्यंत ज्वलनशील केमिकल निकालने के दौरान थोड़ी सी चूक से बड़ी जन-धन हानि होने की प्रबल संभावना है।दबिश दी गई उस समय एक गुजरात नंबर के टैंकर से बूस्टर मोटर पंप के द्वारा पाइप से ड्रमों में केमिकल निकाला जा रहा था। मौके से गोदाम के संचालक कृष्ण कुमार पुत्र भैरू राम (39) निवासी कृष्णा विहार कॉलोनी थाना मनोहरपुर और कर्मचारी गजेंद्र सिंह पुत्र लख सिंह (45) निवासी खरेरा थाना खुनखुना डीडवाना कुचामन एवं उगमा राम पुत्र कवंरा राम (32) निवासी थाना रामसर जिला बाड़मेर को गिरफ्तार कर लिया। टैंकर चालक और कृष्ण कुमार का पार्टनर वैशाली नगर जयपुर निवासी मनोज सोनी भाग गए।

पुलिस ने ये किया जब्त

30 हजार लीटर ज्वलनशील केमिकल से भरा टैंकर कीमत करीब 50 लाख, 28 ड्रमों से चुराया हुआ करीब 6000 लीटर कैमिकल कीमत करीब 10 लाख, करीब 1.25 लाख रुपये नकद एक पिकअप, एक बाइक, 25 खाली ड्रम, 20 जरीकेन, ग्राइंडर मशीन, छोटी वेल्डिंग मशीन, बूस्टर मोटर पंप, दो इलेक्ट्रिक कांटे, तरल पदार्थ नापने का गेज, ड्रिल मशीन, सील करने की किट, सील करने वाले वायर व चोरी में प्रयुक्त पाइप जब्त किए गए।

 केमिकल चोरी में जमानत मिलते ही फिर से करने लगा कारोबार 

आरोपी कृष्ण कुमार साल 2012 में सफेदा फॉर्म के पास दिल्ली अजमेर रोड पर किराए की दुकान में टैंकरों से केमिकल की चोरी करता था। उस समय हरमाड़ा पुलिस ने केमिकल चोरी करते हुए इसे पकड़ जेल भेज दिया।एक महीने बाद जमानत होने के कुछ समय उपरांत ही आरोपी ने मनोहरपुर थाना इलाके में गोदाम ले लिया।

 रोजाना करीब 3 लाख रुपये का कारोबार

पूछताछ में आरोपी कृष्ण कुमार ने बताया कि चालकों की सांठ गांठ से एक टैंकर 100 से 500 लीटर केमिकल चुरा ड्रमों में भर लिया जाता है। 1 दिन में करीब 3 लाख और महीने में एक से डेढ़ करोड़ रुपए तक कमा लेते है। 220 लीटर के 10 ड्रम व पिकअप में लोड कर जाटावाली में श्रवण, योगेश व महेश को बेच देता और बाकी माल को बड़ी गाड़ी से मनोज सोनी दिल्ली-हरियाणा ले जाकर बेच आया करता है।जैसे ही कोई टैंकर गैराज में आता, उगरा राम व गजेंद्र सिंह टैंकर के ढक्कन के नट को ग्राइंडर से काटकर ढक्कन इस प्रकार खोलते की कंपनी की लगाई सील ना टूटे। केमिकल चुराने के बाद नट को उसी स्थिति में वापस वेल्डिंग मशीन से वेल्ड कर देते। कंपनी से केमिकल टैंकर में लोड होकर के बाद कंपनी टैंकर का वजन लेकर बिल्टी बनाकर ड्राइवर को देती है। तेल चुराने के बाद वजन की पूर्ति के लिए ड्राइवर उतना ही वजन गाड़ी की केबिन या बॉडी में छुपा देता है।

 कार्रवाई में इनकी रही भूमिका 

इस संपूर्ण करवाई में एजीटीएफ के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विद्या प्रकाश के कुशल नेतृत्व में एएसआई बनवारी लाल व हेड कांस्टेबल सुरेश कुमार की विशेष भूमिका तथा हेड कांस्टेबल सोहन सिंह व जितेंद्र कुमार का तकनीकी सहयोग रहा। मनोहरपुर थाना एसएचओ एवं जाब्ता का सहयोग रहा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें