ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ राजस्थानअग्निपथ स्कीम: सांसद हनुमान बेनीवाल ने पीएम पर साधा निशाना, कहा- आंदोलन की रूपरेखा तैयार करेगी आरएलपी; बताई ये वजह

अग्निपथ स्कीम: सांसद हनुमान बेनीवाल ने पीएम पर साधा निशाना, कहा- आंदोलन की रूपरेखा तैयार करेगी आरएलपी; बताई ये वजह

राजस्थान के नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने कहा कि सेना अग्रिपथ स्कीम का विरोध के लिए आंदोलन की रूपरेखा तैयारी की जाएगी। सेना में संविदा भर्ती का विरोध किया जाएगा। युवा सुसाइड न करें।

अग्निपथ स्कीम: सांसद हनुमान बेनीवाल ने पीएम पर साधा निशाना, कहा- आंदोलन की रूपरेखा तैयार करेगी आरएलपी; बताई ये वजह
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरFri, 17 Jun 2022 08:29 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान के नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने कहा कि सेना अग्रिपथ स्कीम का विरोध के लिए आंदोलन की रूपरेखा तैयारी की जाएगी। आरएलपी संयोजक बेनीवाल ने कहा कि केंद्र द्वारा संविदा पर सेना में भर्ती के निर्णय से आहत होकर कुछ युवाओं द्वारा आत्महत्या कर लेने के प्रकरण चिंताजनक है। हनुमान बेनीवाल ने युवाओं से अपील करते हुए कहा की आत्महत्या किसी समस्या का समाधान नही है। युवा देश के कर्णधार है। ऐसे में कोई भी गलत कदम नही उठाए। उन्होंने कहा की केंद्र के इस निर्णय के विरोध में आरएलपी युवाओं के साथ खड़ी है। सांसद ने कहा मोदी सरकार ने एयर इंडिया को बेच दिया। रेलवे में निजीकरण कर दिया। अब सेना ने भी इस तरह का प्रयास किया जा रहा है जो उचित नहीं है। सांसद बेनीवाल शनिवार को जयपुर में संविदा सेना भर्ती के निर्णय के विरोध में आंदोलन के आगामी स्वरूप व दिल्ली कूच को लेकर को रणनीति तय करेंगे। जिसमें पार्टी के सभी विधायक और शिक्षाविद भी शामिल होंगे।

सत्ता के दम पर तानाशाही 

सांसद बेनीवाल ने ट्वीट करते हुए लिखा की राजस्थान में संविदा सेना भर्ती के विरोध में तथा बेरोजगार युवाओं द्वारा अन्य मांगों को लेकर किए गए प्रदर्शन में पुलिस द्वारा छात्रों को गिरफ्तार करना गलत है। उन्होंने सरकार से अपील करते हुए लिखा की छात्रों पर बिना मुकदमा दर्ज किए उन्हे रिहा किया जाए। लोकतंत्र में सत्ता के दम पर की जा रही तानाशाही को बर्दास्त नही किया जाएगा। अग्निपथ स्कीम देशहित में नहीं है। मोदी सरकार को अपने फैसले पर फिर से विचार करना चाहिए। सेना का मनोबल गिरेगा। स्कीम देशहित में बिलकुल भी नहीं है। 

लंबित भर्तियों को शुरू करने की मांग

आरएलपी के संयोजक हनुमान बेनीवाल ने कहा कि ऐसे निर्णय सेना के साथ-साथ युवकों के हित में भी नहीं है। युवाओं को सेना भर्ती में जाने के लिए दो वर्ष की आयु में शिथिलता दी जाए। जल्द से जल्द पहले की भांति सेना भर्ती रैलियों का आयोजन प्रारंभ हो। राजस्थान सहित देश के कई सेना भर्ती केंद्रों द्वारा करवाई गई सेना भर्ती रैलियों की परीक्षा सहित लंबित प्रक्रियाओं को जल्द से जल्द पूरा की जाए। भारतीय वायु सेना की अधूरी भर्तियों को भी जल्द से जल्द पूरा किया जाए। 

epaper