ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानसुखदेव सिंह गोगामेड़ी के बाद हत्यारों ने अपने साथ गए शूटर पर क्यों बरसाईं गोलियां? अंतिम समय में बदला मन

सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के बाद हत्यारों ने अपने साथ गए शूटर पर क्यों बरसाईं गोलियां? अंतिम समय में बदला मन

Sukhdev Singh Gogamedi: पुलिस सूत्रों के मुताबिक, जब रोहित, नितिन और नवीन गोली चलाने के लिए उठे तब नवीन डर गया। वो उसी वक्त अपने दोनों साथियों को रोकना चाहता था।

सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के बाद हत्यारों ने अपने साथ गए शूटर पर क्यों बरसाईं गोलियां? अंतिम समय में बदला मन
Devesh Mishraलाइव हिंदुस्तान,जयपुरSun, 10 Dec 2023 04:51 PM
ऐप पर पढ़ें

Sukhdev Singh Gogamedi Murder: बीते दिनों राजपूत करणी सेना के चीफ सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के सिर और छाती पर 9 गोलियां मारकर हत्या कर दी गई। इस मर्डर केस में शामिल दो मुख्य आरोपियों को पुलिस ने पकड़ लिया है। गोगामेड़ी पर गोली चलाने वाले रोहित राठौड़ और नितिन फौजी को चंडीगढ़ से गिरफ्तार किया गया है। दरअसल, गोगामेड़ी की हत्या करने तीन लोग पहुंचे थे। लेकिन उनमें से एक शूटर की उसी के दो साथियों ने हत्या कर दी। आखिर रोहित और नितिन ने अपने साथी शूटर पर गोली क्यों चलाई?

क्यों हुई नवीन की हत्या?
सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या के बाद उस कमरे का सीसीटीवी फुटेज वायरल हुआ जिसमें हत्यारों ने उन्हें गोली मारी थी। कुल तीन लोग- रोहित राठौड़, नितिन फौजी और नवीन सिंह शेखावत, गोगामेड़ी की हत्या करने पहुंचे थे। लेकिन वीडियो में देखा जा सकता है कि रोहित और नितिन ने नवीन पर भी गोली चला दी। 'एनडीटीवी' ने पुलिस सूत्रों के हवाले से बताया है कि आखिरी मौके पर नवीन इस मर्डर को रोकना चाहता था। वो नहीं चाहता था कि गोगामेड़ी पर गोली चलाई जाए।

नहीं चाहता था कि गोली चले...
पुलिस सूत्रों के मुताबिक, जब रोहित, नितिन और नवीन गोली चलाने के लिए उठे तब नवीन डर गया। वो उसी वक्त अपने दोनों साथियों को रोकना चाहता था। वो नहीं चाहता था कि गोगामेड़ी की हत्या की जाए। लेकिन रोहित और नितिन ने उसे भी गोली मार दिया। हत्यारे सिर्फ गोगामेड़ी को मारने का प्लान बनाकर गए थे लेकिन उस दिन गोगामेड़ी के साथ-साथ नवीन सिंह शेखावत की भी जान चली गई।

रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि नवीन सिंह शेखावत इस मर्डर केस में शुरुआत से ही शामिल था। वो गोगामेड़ी से जुड़ी कई जानकारियां जुटा रहा था। लेकिन गोली चलाने से ठीक पहले उसका मन क्यों बदल गया यह किसी को भी नहीं पता। हालांकि यह माना जा रहा है कि वो इस हत्याकांड के बाद के नतीजों के काफी डर गया होगा, शायद इसी वजह से उसने अपने दोनों साथियों को गोली चलाने से रोका होगा।

गोगामेड़ी मर्डर केस के बाद आनंदपाल की बेटी चरणजीत उर्फ चीनू का नाम भी सामने आ रहा है। हालांकि चीनू ने एक वीडियो जारी कर बताया है कि गोगामेड़ी उसके परिवार के सदस्य जैसे थे। उसने इन आरोपों को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। यहां क्लिक कर पढ़िए पूरी खबर...   

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें