फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News पंजाबसत्ता में आए तो रद्द कर देंगे पड़ोसी राज्यों से जल बंटवारा समझौता; बीच चुनाव क्यों भड़के सुखबीर बादल

सत्ता में आए तो रद्द कर देंगे पड़ोसी राज्यों से जल बंटवारा समझौता; बीच चुनाव क्यों भड़के सुखबीर बादल

Punjab News: सुखबीर सिंह बादल ने पंजाबियों से सतलुज यमुना लिंक (SYL) नहर के माध्यम से राज्य के शेष पानी का आधा हिस्सा हरियाणा को देने की साजिश को सिरे से खारिज करने की अपील की।

सत्ता में आए तो रद्द कर देंगे पड़ोसी राज्यों से जल बंटवारा समझौता; बीच चुनाव क्यों भड़के सुखबीर बादल
Pramod Kumarएजेंसी,फरीदकोटTue, 21 May 2024 07:39 PM
ऐप पर पढ़ें

शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने मंगलवार को घोषणा की कि अगली अकाली दल सरकार पड़ोसी राज्यों के साथ नदी जल बंटवारा समझौता को समाप्त कर देगी। अकाली दल अध्यक्ष ने फरीदकोट, निहाल सिंह वाला, धर्मकोट और मोगा में विशाल रैलियों को संबोधित करते हुए कहा कि राजस्थान का गैर रिपेरियन राज्य होने के कारण पंजाब के नदी जल पर कोई अधिकार नहीं है।

उन्होंने कहा, ‘‘पंजाब के कुल 16 एमएएफ पानी का आधा हिस्सा 1955 में कांग्रेस सरकार ने राजस्थान को सौंप दिया था। इससे मालवा बेल्ट को भारी नुकसान हुआ है। आज कई जगहों पर पानी का स्तर 1500 फुट से भी नीचे चला गया है, यहां तक कि जमीन का पानी खेती के लायक भी नहीं बचा है। एक बार अकाली दल सरकार बनने पर हम उस राज्य के साथ सभी समझौतों को रद्द करके राजस्थान में पानी के बहाव को रोक देंगे और इस पानी को अपने खेतों की ओर मोड़ देंगे।’’

बादल ने पंजाबियों से सतलुज यमुना लिंक (SYL) नहर के माध्यम से राज्य के शेष पानी का आधा हिस्सा हरियाणा को देने की साजिश को सिरे से खारिज करने की अपील की। उन्होंने कहा, ‘‘भले ही पंजाब के पास अपने क्षेत्र की नदियों के पानी पर पूरा अधिकार है, फिर भी नहर सिंचाई के कमांड क्षेत्रों का सर्वेक्षण करके और उसे उच्चतम न्यायालय में जमा करके राज्य का पानी हरियाणा को सौंपने की साजिश रची गयी है।’’

उन्होंने कहा कि तदनुसार मुख्यमंत्री भगवंत मान ने नहर पटवारियों और राजस्व कर्मचारियों को फर्जी सर्वेक्षण के बाद रिपोर्ट सौंपने का आदेश दिया कि पंजाब में 100 फीसदी खेतों को नहर का पानी मिल रहा है, हालांकि यह आंकड़ा केवल 23 फीसदी है। बादल ने कहा,‘‘यह आप पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल के निर्देश पर किया जा रहा है, जिन्होंने पहले ही हरियाणा और दिल्ली के लोगों से एसवाईएल नहर का पानी देने का वादा किया है। आम आदमी पार्टी इस कदम से हरियाणा और दिल्ली में राजनीतिक लाभ लेना चाहती है।’’

अकाली दल अध्यक्ष ने सरकार के अवैध आदेशों को लागू करने का विरोध कर रहे 400 नहरी पटवारियों को निलंबित करने के लिये आप की निंदा की। उन्होंने कहा,‘‘ हम पटवारियों के साथ एकजुटता में हैं और यह सुनिश्चित करेंगे कि उन्हें कोई नुकसान न हो। हम इस पंजाब विरोधी सरकार को अपना पानी हरियाणा को सौंपने के फैसले को वापस लेने के लिये मजबूर कर देंगे और इसे रोकने के लिये कोई भी बलिदान देने के लिए तैयार हैं।’’

फरीदकोट संसदीय क्षेत्र में अकाली दल द्वारा किये गये कार्यों के बारे में श्री बादल ने कहा,‘‘ पूर्व मुख्यमंत्री सरदार प्रकाश सिंह बादल ने इस क्षेत्र में जल जमाव को दूर किया और आपकी जमीन को खेती योग्य बनाया। उन्होंने कहा कि अकाली सरकार ने आपको सिंचाई की सुविधायें दी और यहां तक कि आपके खेतों में भूमिगत पाइप भी लगाये गये।’’