फोटो गैलरी

Hindi News पंजाब अंतिम संस्कार के नहीं थे पैसे, पिता ने घर में ही दफना दिया बेटे का शव

अंतिम संस्कार के नहीं थे पैसे, पिता ने घर में ही दफना दिया बेटे का शव

पटियाला में एक गरीब पिता ने पैसे की कमी की वजह से अपने बेटे का शव घर के ही आंगन में दफना दिया। बाद में जब बदबू आनी शुरू हुई तो लोगों को इसके बारे में पता चला।

 अंतिम संस्कार के नहीं थे पैसे, पिता ने घर में ही दफना दिया बेटे का शव
Ankit Ojhaमोनी देवी, लाइव हिंदुस्तान,चंडीगढ़Sat, 09 Dec 2023 10:54 PM
ऐप पर पढ़ें

पटियाला से एक दिल दहला देने वाली खबर सामने आई है। यहां एक पिता ने पैसे न होने के कारण अपने 17 साल के बेटे को घर में ही दफना दिया। जब घर से बदबू आने लगी तो उसकी बहनों ने अपनी मौसी को घटना के बारे में बताया। उनकी मौसी पटियाला पहुंची और पुलिस को सूचना दी। इसके बाद शव निकाला गया और उसके परिवार ने उसका अंतिम संस्कार कर दिया।

दो महीने से बिस्तर पर था बेटा 
मामला पटियाला शहर की जय जवान कॉलोनी का है। यहां भगवान दास अपनी पत्नी और 3 बच्चों के साथ कच्चे मकान में काफी समय से रह रहा है। वह मजदूरी कर परिवार पालता है। मोहल्ला वासियों ने बताया कि भगवान दास की 2 बेटियां और 1 बेटा है। उनकी पत्नी की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। लवी बचपन से ही मानसिक तौर पर ठीक नहीं था। दो महीने पहले उसे अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी थी, जिसके बाद पिता गरीबी के चलते बेटे का इलाज नहीं करा सका। तब से लवी बिस्तर पर ही था। रविवार को उसकी मौत हो गई। पिता भगवान दास के पास अंतिम संस्कार करने के लिए पैसे नहीं थे और उसने बेटे को आंगन में ही गड्ढा खोदकर शव दबा दिया। पुलिस की मदद से शव को निकाला गया और फिर अंतिम संस्कार किया गया। 

प्राकृतिक मौत थी युवक की, परिवार ने थाने में दिया हलफनामा
थाना सिविल लाइन के एस.एच.ओ. हरजिंदर सिंह ढिल्लों ने कहा कि फिलहाल इस मामले में पुलिस को कोई शिकायत नहीं मिली है। परिजनों ने कहा है कि युवक की मौत प्राकृतिक थी। शनिवार को परिवार के सभी सदस्य और रिश्तेदार थाने पहुंचे थे और उन्होंने इस संबंध में हलफिया बयान दिया है। अब परिवार की सहमति से बच्चे का अंतिम संस्कार कर दिया गया है। एसपी सिटी मोहम्मद सरफराज आलम ने बताया कि उन्होंने मामले को वेरिफाई किया है इसलिए कोई पुलिस कार्रवाई नहीं की गई।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें