फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News पंजाबसुखबीर बादल के जीजा आदेश प्रताप कैरों पर शिरोमणि​​ अकाली दल का ऐक्शन, विरोधी गतिविधियों के चलते पार्टी ने निकाला

सुखबीर बादल के जीजा आदेश प्रताप कैरों पर शिरोमणि​​ अकाली दल का ऐक्शन, विरोधी गतिविधियों के चलते पार्टी ने निकाला

शिरोमणी अकाली दल ने पार्टी नेता और पूर्व मंत्री आदेश प्रताप सिंह कैरों को पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते पार्टी से निष्कासित कर दिया है।

सुखबीर बादल के जीजा आदेश प्रताप कैरों पर शिरोमणि​​ अकाली दल का ऐक्शन, विरोधी गतिविधियों के चलते पार्टी ने निकाला
Himanshu Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,चंडीगढ़Sun, 26 May 2024 12:49 AM
ऐप पर पढ़ें

पंजाब में लोकसभा चुनाव के मतदान से पहले शिरोमणी अकाली दल ने पार्टी नेता और पूर्व मंत्री आदेश प्रताप सिंह कैरों को पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते पार्टी से निष्कासित कर दिया है। आदेश प्रताप कैरों शिरोम​​णि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल के जीजा हैं। सुखबीर बादल की बहन प्रणीत कौर की शादी आदेश प्रताप कैरों से हुई है। कैरों को पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से तुरंत निष्कासित कर दिया गया है। अकाली दल के खडूर साहिब लोकसभा से प्रत्याशी प्रो. विरसा सिंह वल्टोहा की शिकायत पर पार्टी ने कैरों के ​खिलाफ यह कार्रवाई की है। इस संबंध में निर्णय पार्टी महासचिव बलविंदर सिंह भूंदड़ ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ परामर्श के बाद लिया। 

कैरों और प्रो. वल्टोहा के बीच पुरानी तनातनी 
पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के दामाद आदेश प्रताप सिंह कैरों और प्रो. विरसा सिंह वल्टोहा के बीच तनातनी काफी पुरानी है। विधानसभा हलका पट्टी से लगातार चार बार चुनाव जीतकर बादल सरकार में तीन बार कैबिनेट मंत्री रहे आदेश प्रताप सिंह कैरों पत्नी परनीत कौर कैरों के लिए खेमकरण विधानसभा हलके की टिकट पर दावा जताते रहे हैं। लेकिन इस बार भी उन्हें टिकट नहीं मिली। शिअद अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने प्रो. विरसा सिंह वल्टोहा को खडूर साहिब से टिकट दी है। प्रो. विरसा सिंह वल्टोहा की पीठ पर पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया हाथ है। इसी साल फरवरी में प्रो. वल्टोहा और पूर्व मंत्री आदेश प्रताप सिंह कैरों के बीच सुलह के आसार बने थे लेकिन सिरे नहीं चढ़े। 

वल्टोहा की खडूर साहिब सीट पर मजबूत पकड़
वल्टोहा खडूर साहिब लोकसभा से अकाली दल के प्रत्याशी हैं। इसी सीट पर खालिस्तानी समर्थक अमृतपाल सिंह निर्दलीय चुनाव लड़ रहा है। आम आदमी पार्टी ने लालजीत सिंह भुल्लर और भाजपा ने मंजीत सिंह मन्ना मियांविंड को मैदान में उतारा है। कांग्रेस ने पूर्व विधायक कुलबीर सिंह जीरा को इस सीट से मैदान में उतारा है। विरसा सिंह वल्टोहा खडूर साहिब सीट से विधायक रह चुके हैं, जिसके चलते इस सीट पर उनकी पकड़ मजबूत मानी जा रही है। इसके चलते शिरोमणि अकाली दल ने उन पर दांव खेला है। खडूर साहिब से पहले शिरोमणि अकाली दल की तरफ से बिक्रम सिंह मजीठिया या बीबी जागीर कौर को चुनाव मैदान में उतारने की भी चर्चा थी। खडूर साहिब लोकसभा सीट, जिसे पंथक सीट कहा जाता है, 2008 में अस्तित्व में आई थी। 

रिपोर्ट: मोनी देवी